Print ReleasePrint
XClose
पत्र सूचना कार्यालय
भारत सरकार
वित्त मंत्रालय
12-सितम्बर-2017 20:14 IST

आर्थिक कार्य विभाग के सचिव ने राज्‍यों तथा केन्‍द्र शासित प्रदेशों के वित्‍त विभागों की क्षमता विकसित करने में बहुपक्षीय एजेंसियों की भागीदारी पर आयोजित कार्यशाला का उद्घाटन किया 

वित्‍त मंत्रालय के आर्थिक कार्य विभाग के सचिव श्री सुभाष चंद्र गर्ग ने राज्यों तथा केन्द्र शासित प्रदेशों के वित्त विभागों की क्षमता विकसित करने में बहुपक्षीय एजेंसियों की भागीदारी पर आईएमएफ दक्षिण एशिया क्षेत्रीय प्रशिक्षण तथा तकनीकी सहायता केन्‍द्र (एसएआरटीटीएसी), नई दिल्‍ली में आयोजित कार्यशाला का उद्घाटन किया। अपने उद्घाटन भाषण में श्री गर्ग ने आशा व्‍यक्‍त की कि राज्‍य और केन्‍द्र शासित प्रदेश एसएआरटीटीएसी तथा एमडीबी द्वारा प्रदान किये गये अवसरों का लाभ उठाएंगे। एमडीबी राज्‍यों तथा केन्‍द्र शासित प्रदेशों से पर्याप्‍त इनपुट लेकर भविष्‍य के लिए व्‍यापक प्रशिक्षण मॉडल विकसित करने में सहायक होगा।

      कार्यशाला में अनेक राज्‍यों/केन्‍द्र शासित प्रदेशों के अतिरिक्‍त मुख्‍य सचिवों/वित्‍त विभागों के प्रधान सचिवों, वित्‍त मंत्रालय के वरिष्‍ठ अधिकारियों तथा आईएमएफ एसएआरटीटीएसी, विश्‍व बैंक एशियाई इन्‍फ्रास्‍ट्रेक्‍चर इन्‍वेस्‍टमेंट बैंक (एआईआईबी) तथा न्‍यू डवलपमेंट बैंक(एनडीबी) के विशेषज्ञों ने भाग लिया।

      कार्यशाला में राज्‍यों तथा केन्‍द्र शासित प्रदेशों की क्षमता विकास में आईएमएफ,  एसएआरटीटीएसी, विश्‍व बैंक, एआईआईबी तथा एनडीबी जैसी बहुपक्षीय एजेंसियों की क्षमता और संभावनाओं को दिखाया गया।

      कार्यशाला में वित्‍तीय आकड़ा प्रबंधन केन्‍द्र (एफडीएमसी) तथा प्रतिभूति बाजार के लिए स्‍टैम्‍प शुल्‍क व्‍यवस्‍था को तर्कसंगत बनाये जाने जैसे कदमों पर वित्‍तमंत्रालय के अधिकारियों द्वारा प्रस्‍तुतिकरण दिया गया।

***

वीके/एजी/जीआरएस–3732