Print ReleasePrint
XClose
पत्र सूचना कार्यालय
भारत सरकार
गृह मंत्रालय
12-अक्टूबर-2017 17:37 IST

बिम्सटेक आपदा प्रबंधन अभ्यास -2017 के अंतर्गत बाढ़ से बचाव के बारे में संयुक्त क्षेत्र प्रशिक्षण अभ्यास

डॉ. जितेन्द्र सिंह कल समाप्त होने वाले चार दिवसीय अभ्यास में मुख्य अतिथि के रूप में समापन भाषण देंगे  

 

बहुक्षेत्रीय तकनीकी और आर्थिक सहयोग (बिम्सटेक), आपदा प्रबंधन अभ्यास -2017 के लिए पहली बंगाल की खाड़ी पहल के अंतर्गत यमुना बैराज, वजीराबाद में बाढ़ से बचाव के बारे में संयुक्त क्षेत्र प्रशिक्षण अभ्यास किया गया जिसमें बिम्सटेक समूह के सभी 7 सदस्य देशों के प्रतिनिधियों और बचाव दल ने बेहद उत्साह के साथ भाग लिया।

लगातार भारी वर्षा के कारण दिल्ली और नजदीकी इलाकों में यमुना नदी में बाढ़ की स्थिति गंभीर हो जाती है। बड़ी संख्या में लोग बाढ़ प्रभावित इलाकों में फंस जाते हैं। बाढ़ आपदा के भारी प्रभाव को ध्यान में रखते हुए, बिम्सटेक सदस्य देशों ने बाढ़ राहत और जरूरतमंदों को निकालने के लिए भारत सरकार को सहायता देने की पेशकश दी।

वास्तविक आपदा परिदृश्य का अहसास कराने के लिए यमुना बैराज को एक कृत्रिम शहरी कॉलोनी बनाया गया जिसमें बाढ़ से प्रभावित इलाकों और घरों को दर्शाया गया। बहु-मंजिली इमारतों और घरों सहित बड़ी संख्या में डूबे हुए डमी ढांचे को उस स्थिति में तैयार किया गया जिसमें लोग बाढ़ से घिरे हुए थे। सभी बिम्सटेक सदस्य देशों के बचाव दलों ने बाढ़ में फंसे हुए प्रभावित लोगों को सफलतापूर्वक बचाने में अपना उत्कृष्ट पेशेवर कौशल दिखाया।

विभिन्न सदस्य देशों के बचाव दलों ने स्थिति के अनुसार कार्य किया और बाढ़ से बचाव के नवीनतम औजार/उपकरणों का इस्तेमाल करते हुए तेजी से प्रतिक्रिया व्यक्त की। बचाव दलों ने आधुनिक तरीके से तलाशी और बचाव कार्य किया। बाढ़ में फंसे हुए लोगों को निकालने के लिए एक हेलीकॉप्टर का भी इस्तेमाल किया गया। बचाव दल ने बाढ़ के शिकार लोगों को हवा में निकालने के लिए विशेष कौशल का प्रदर्शन किया। जरूरतमंदों को चिकित्सा सेवा, खाद्य पैकेटों का वितरण भी साथ-साथ दिखाया गया।

यह संयुक्त प्रशिक्षण अभ्यास एनडीआरएफ के महानिदेशक श्री संजय कुमार की देखरेख में किया गया। गृह मंत्रालय, विदेश मंत्रालय, एनडीएमए, एनडीआरएफ के वरिष्ठ अधिकारियों, राज्य के प्रतिनिधियों और अन्य गणमान्य व्यक्तियों ने इस अभ्यास को देखा। सभी बिम्सटेक सदस्य देशों ने शहरी बाढ़ आपदा परिवेश से निपटने में आपदा मोचन तंत्र और क्षमताओं का प्रदर्शन किया।

केन्द्रीय पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्रालय, प्रधानमंत्री कार्यालय, कार्मिक जनशिकायत और पेंशन, परमाणु ऊर्जा और अंतरिक्ष राज्यमंत्री डॉ. जितेन्द्र सिंह कल यहां बिम्सटेक आपदा प्रबंधन अभ्यास -2017 के समापन सत्र को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित करेंगे।

 

http://pibphoto.nic.in/documents/rlink/2017/oct/i2017101207.jpg

 

http://pibphoto.nic.in/documents/rlink/2017/oct/i2017101208.jpg

 

http://pibphoto.nic.in/documents/rlink/2017/oct/i2017101209.jpg

 

***

वीएल/केपी/सीएस–5037