Print
XClose
पत्र सूचना कार्यालय
भारत सरकार
वित्त मंत्रालय
08-अगस्त-2018 18:26 IST

राजस्व आसूचना निदेशालय ने विदेशी मुद्रा तस्करी रैकेट का भंडाफोड़ किया; विदेशी नागरिकों की संलिप्तता

6.14 करोड रुपये कीमत की विदेशी मुद्रा पकड़ी गयी

भारत सरकार के राजस्व विभाग के अधीन राजस्व आसूचना निदेशालय (डीआरआई) के दिल्ली क्षेत्र इकाई के अधिकारियों ने सटीक सूचना के आधार पर नई दिल्ली के इन्दिरा गांधी अंतराष्ट्रीय हवाई अड्डे के टी-3 प्रस्थान हॉल पर 7 विदेशी नागरिकों को रोका तथा उनके पास से बड़ी मात्रा में विदेशी मुद्रा पकड़ी। यह विदेशी मुद्रा इन विदेशी नागरिकों के चेक-इन सामान से बरामद की गयी। ये सभी विदेशी नागरिक 5 और 6 अगस्त, 2018 की रात को हांगकांग की उड़ान पकड़ने की तैयारी में थे। इस तस्कर गिरोह के भारतीय सह-अपराधी का भी पता लगाकर उसे पकड़ लिया गया है।

जब्तशुदा विदेशी मुद्रा को तौलिये में लपेटकर सामान में इस तरह छुपाया गया था, ताकि हवाई अड्डे पर एजेंसियां उनका पता न लगा सकें। सभी मुद्राएं 100-100 अमेरिकी डॉलर के मूल्य-वर्ग की थी। कुल लगभग 8.90 लाख अमेरिकी डॉलर पकड़े गये, जिनकी बाजार कीमत लगभग 6.14 करोड़ रुपये है।

http://164.100.117.97/WriteReadData/userfiles/image/image001E1B2.jpg

अब तक की जांच से पता लगा है कि इस गिरोह में विदेशी और भारतीय नागरिक संलिप्त हैं, जो हांगकांग तथा भारत में स्थित हैं। गिरोह का मास्टर-माइंड हांगकांग में बैठा है, जो माल ले जाने वाले कैरियरों का इंतजाम करता है और सोने की छड़ों को सामान में छुपाकर उनके जरिए भारत भेजता है। भारत में उनका साथी सोना ले लेता है और उसके बदले विदेशी मुद्रा देता है। इस विदेशी मुद्रा को भारत से हांगकांग भेज दिया जाता है। जांच में यह भी पता चला है कि गिरोह उन्हीं कैरियरों का बार-बार इस्तेमाल नहीं करता ताकि भारत में कस्टम की नजर से बचा जा सके। पूर्व में भी डीआरआई ने सोना, विदेशी मुद्रा और हथियार जैसी विभिन्न प्रतिबंधित सामग्रियों की तस्करी में कई विदेशी नागरिकों को पकड़ा है।

सभी 8 व्यक्तियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। मामले में आगे जांच चल रही है।

 

***

वीके/एम/एकेपी/एमएम – 9812