Print
XClose
पत्र सूचना कार्यालय
भारत सरकार
स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय
09-अक्टूबर-2018 19:57 IST

श्री जे.पी.नड्डा ने मिशन इंद्रधनुष के अगले दौर के लिए तैयारियों की समीक्षा की

लक्ष्‍यों को पूरा करने के लिए राज्‍यों को पूर्ण समर्थन का आश्‍वासन दिया

केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्री  श्री जे.पी.नड्डा ने वीडियो कांफ्रेस के माध्‍यम से 17 राज्‍यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के स्‍वासथ्‍य मंत्रियों और  प्रधान सचिवों के साथ अगले दौर के मिशन इंद्रधनुष (एमआई) की तैयारियों की समीक्षा की। श्री नड्डा ने स्‍पष्‍ट निर्देश दिए और पूर्ण टीकाकरण के  लक्ष्‍यों को हासिल करने में सभी सहयोग का आश्‍वासन दिया। उन्‍होंने राज्‍यों से कहा कि इस पहल के अंतर्गत टीकाकरण से छुटे हुए बच्‍चों और गर्भवती महिलाओं को पूर्ण सुरक्षा सुनिश्चित करने में कोई कसर नहीं छोड़ें। उन्‍होंने विश्‍वास व्‍यक्‍त किया कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी द्वारा तय किए गए देश में 90 प्रतिशत पूर्ण टीकाकरण के लक्ष्‍य को प्राप्‍त कर लेंगे।

देश के 75 जिलों में तीन दौर के टीकाकरण के अभियान की योजना बनाई गई है। यह अभियान सातों दिन (नियमित टीकाकरण दिवस- रविवार और अवकाश को छोड़कर) जारी रहेगा। टीकाकरण का पहला दौर 22 अक्‍टूबर 2018 से , दूसरा दौर 22 नवंबर 2018 से और तीसरा 22 दिसंबर 2018 से आगे जारी रहेगा।

श्री नड्डा ने कहा कि उच्‍च जोखिम के झुग्गियों और कच्‍चे ईट के घरों, जनजातीय क्षेत्रों, वन क्षेत्रों, निर्माण स्‍थलों, प्रवासी वस्तियों, रिक्‍त पड़े उपकेंद्रों, शहरी झुग्गियों में  रहने वाले ऐसे बच्‍चों और गर्भवती महिलाओं पर फोकस किया जाना चाहिए जिन्‍हें टीके नहीं लगे हैं या आंशिक रूप से टीके लगे हैं और उच्‍च जोखिम के बच्‍चों और महिलाओं पर विशेष फोकस किया जाना चाहिए।  

उन्‍होंने कहा कि आशा तथा आंगनवाड़ी कर्मियों द्वारा गिनती सर्वेक्षण इस तरह किया जाना चहिए जिससे सभी क्षेत्र कवर हों तथा एएनएम/सुपरवाइजरों द्वारा सर्वे का सर्वेक्षण किया जाना चाहिए।

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने इंद्रधनुष के सभी दौर के नियोजन और क्रियान्‍वयन की राज्‍य और जिला कार्यबल बैठकों में नियमित समीक्षा की आवश्‍यकता पर बल दिया ताकि क्रियान्‍वयन में अंतरों की पहचान की जा सके और उनका विकेंद्रित रूप से समाधान किया जा सके।

मिशन इंद्र धनुष (एमआई)  भारत सरकार की अग्रनी योजनाओं में एक है और इसका लक्ष्‍य दिसंबर 2018 तक 90 प्रतिशत पूर्ण टीकाकरण कवरेज है।

 

***

आर.के.मीणा/अर्चना/एजे/एनआर-10610