Print
XClose
पत्र सूचना कार्यालय
भारत सरकार
रक्षा मंत्रालय
14-दिसंबर-2018 16:24 IST

आईएनएस सुनयना द्वारा एक बार फिर हथियार और गोला-बारूद बरामद

    दक्षिणी नौसेना कमान के एक समुद्री निगरानी पोत (ओपीवी), भारतीय नौसेना पोत सुनयना ने कल 13 दिसंबर, 2018 को अपने अभियान के तहत अफ्रीका के सोमालिया के निकट समुद्रतट से लगभग 20 नॉटिकल मील की दूरी पर एक संदिग्ध जहाज का पीछा किया। जांच के बाद उस संदिग्ध जहाज में से अवैध हथियार और गोला-बारूद बरामद किये, जैसे- पांच एके-47 राइफल और 471 राउंड गोलियां। चालक दल द्वारा समुद्री लूट की गतिविधियों में इनके अवैध इस्तेमाल को रोकने के उद्देश्य से गोला-बारूद बरामद करने के बाद उस जहाज को जाने की अनुमति दे दी गई।

आईएनएस सुनयना को 6 अक्टूबर, 2018 से अदन की खाड़ी में समुद्री लूट की घटनाओं के विरूद्ध निगरानी के लिए तैनात किया गया है। इस जहाज ने इससे पहले भी 9 नवंबर और 7 दिसंबर, 2018 को संचालित एक खोज अभियान में 6 एके-47 राइफलें और एक लाइट मशीनगन बरामद की थी। भारतीय नौसेना के जहाजों द्वारा सतर्कता की गतिविधियां, हिन्द महासागर क्षेत्र में भारतीय और अंतर्राष्ट्रीय समुद्री जहाजों के लिए समुद्री सुरक्षा सुनिश्चित करने की दिशा में भारत का संकल्प दोहराती हैं। 

भारत, चीन, जापान, अमरीका, रूस, पाकिस्तान और यूरोपीय संघ जैसे कई देशों की भागीदारी से अदन की खाड़ी और सोमालिया क्षेत्र के पूर्वी समुद्रतट में समुद्री लूट से निपटने के लिए एक अंतर्राष्ट्रीय पहल की जा रही है। समुद्री लूट का मुकाबला करने के लिए इस क्षेत्र में संचालित युद्ध पोतों को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद प्रस्ताव (यूएनएससीआर) 2383 (2017) द्वारा अवैध गतिविधियों के संदिग्ध पोतों की जांच करने के लिए अधिकृत किया गया है।      

 

***

आर.के.मीणा/अर्चना/एसकेएस/एम –11733