Print
XClose
पत्र सूचना कार्यालय
भारत सरकार
प्रधानमंत्री कार्यालय
14-जनवरी-2019 18:29 IST

ओडिशा के तटीय एवं पश्चिमी क्षेत्रों में बुनियादी ढांचागत विकास, कनेक्टिविटी और ‘कारोबार में सुगमता’ को बढ़ावा मिलेगा

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी कल ओडिशा के बलांगीर के दौरे पर रहेंगे और कई परियोजनाओं का शुभारंभ करेंगे झारसुगुड़ा स्थित मल्टी-मोडल लॉजिस्टिक्स पार्क (एमएमएलपी) को राष्ट्र को समर्पित किया जाएगा बलांगीर और बिचुपली के बीच नई रेल लाइन का उद्घाटन किया जाएगा

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी कल 15 जनवरी, 2019 को ओडिशा के बलांगीर के दौरे पर रहेंगे। प्रधानमंत्री झारसुगुड़ा स्थित मल्टी-मोडल लॉजिस्टिक्स पार्क (एमएमएलपी) के साथ-साथ अन्य विकास परियोजनाओं को भी राष्ट्र को समर्पित करेंगे। प्रधानमंत्री बलांगीर और बिचुपली के बीच नई रेल लाइन का उद्घाटन करेंगे। इसके अलावा, प्रधानमंत्री सोनपुर स्थित केंद्रीय विद्यालय के स्थायी भवन की आधारशिला भी रखेंगे।

झारसुगुड़ा स्थित मल्टी-मोडल लॉजिस्टिक्स पार्क (एमएमएलपी) का निर्माण 100 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है। इस पार्क से निजी माल ढुलाई सहित आयात-निर्यात (एक्जिम) और घरेलू कार्गो में भी सुविधा होगी। एमएमएलपी हावड़ा-मुम्बई के निकट अवस्थित है जो झारसुगुड़ा रेल लाइन से 5 किलोमीटर दूर है। इस यूनिट के निकट ही इस्पात, सीमेन्ट और कागज (पेपर) जैसे महत्वपूर्ण उद्योग अवस्थित हैं जो इस सुविधा से लाभान्वित होंगे। मल्टी-मोडल लॉजिस्टिक्स पार्क (एमएमएलपी) की बदौलत ओडिशा में झारसुगुड़ा एक प्रमुख लॉजिस्टिक केन्द्र (हब) के रूप में स्थापित होगा और इसके साथ ही राज्य में कारोबार में सुगमताको काफी बढ़ावा मिलेगा।

15 किलोमीटर लम्बी बलांगीर-बिचुपली नई रेल लाइन ओडिशा के तटीय क्षेत्र को पश्चिमी ओडिशा से कनेक्ट करेगी जिससे पूरे राज्य में विकास साथ-साथ होगा। इसकी बदौलत भुवनेश्वर और पुरी से प्रमुख शहरों जैसे नई दिल्ली और मुम्बई तक की यात्रा अवधि काफी घट जाएगी। इस नई रेल लाइन से ओडिशा में कई एमएसएमई (सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यम) और कुटीर उद्योग लाभान्वित होंगे। यही नहीं, इस रेल लाइन से ओडिशा में खनन क्षेत्र के लिए व्यापक अवसर सृजित होंगे।

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा अपने दौरे के दौरान निम्नलिखित विकास परियोजनाओं का शुभारंभ किए जाने की संभावना है :

  • 1085 करोड़ रुपये की लागत से 813 किलोमीटर लम्बी झारसुगुड़ा-विजीनगरम और संबलपुर-अंगुल लाइनों के विद्युतीकरण को राष्ट्र को समर्पित किया जाएगा। इसकी बदौलत इस लाइन पर निर्बाध रेल कनेक्टिविटी सुनिश्चित होगी।
  • 13.5 किलोमीटर लम्बी बारापली-डुंगरीपली और बलांगीर-देवगांव सड़क लाइन के दोहरीकरण को राष्ट्र को समर्पित किया जाएगा।
  • थिरुवली–सिंगापुर रोड स्टेशन के बीच पुल संख्या 588 को राष्ट्र को समर्पित किया जाएगा। इससे नागावेली नदी पर पुल का पुनर्निर्माण संभव होगा जो जुलाई, 2017 में आई बाढ़ के दौरान बह गया था। 

 

लोगों को पासपोर्ट सेवाएं सुलभ कराने और यात्रा से जुड़ी लोगों की परेशानियां कम करने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी केंद्रपाड़ा, पुरी, जगतसिंह, बरगढ़, कंधमाल और बलांगीर में नए पासपोर्ट सेवा केंद्रों का उद्घाटन करेंगे। नए पासपोर्ट सेवा केंद्रों से इन क्षेत्रों के लोग काफी लाभान्वित होंगे क्योंकि उन्हें पासपोर्ट संबंधी सेवाओं के लिए भुवनेश्वर जाना पड़ता था।

प्रधानमंत्री गंधरादी (बौध) स्थित नीलमाधव और सिद्धेश्वर मंदिर में जीर्णोद्धार और नवीनीकरण से जुड़े कार्यों का भी उद्घाटन करेंगे। ये ओडिशा मंदिर से जुड़ी स्थापत्य कला या वास्तुकला के प्राचीनतम मंदिर हैं, जो पश्चिमी ओडिशा के हारा-हरि सांस्कृतिक ताने-बाने को दर्शाते हैं।

इसके अलावा प्राचीन व्यापार मार्ग पर स्थित बलांगीर में स्मारकों के रानीपुर झरियाल समूह के जीर्णोद्धार और नवीनीकरण से जुड़े कार्यों का भी उद्घाटन होगा।

प्रधानमंत्री कालाहांडी स्थित असुरगढ़ किले में भी जीर्णोद्धार और नवीनीकरण से जुड़े कार्यों का उद्घाटन करेंगे। प्राचीन ग्रन्थों में असुरगढ़ का उल्लेख एक महत्वपूर्ण राजनीतिक एवं वाणिज्यिक केंद्र के रूप में किया गया है।

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी सोनपुर स्थित केंद्रीय विद्यालय के स्थायी भवन की आधारशिला भी रखेंगे। इस भवन में 1000 से भी अधिक स्कूली विद्यार्थियों के लिए स्कूली शिक्षा से जुड़ी आधुनिक सुविधाएं होंगी।

 

***

 

आर.के.मीणा/अर्चना/आरआरएस/सीएस-188