Print
XClose
पत्र सूचना कार्यालय
भारत सरकार
संसदीय कार्य मंत्रालय
13-फरवरी-2019 18:34 IST

संसद का अंतरिम बजट सत्र 2019 समाप्‍त

लोकसभा में 89 प्रतिशत और राज्‍यसभा में करीब 8 प्रतिशत कामकाज हुआ    दोनों सदनों ने 4 विधेयक पारित किए

      संसदीय मामले और केन्‍द्रीय ग्रामीण विकास, पंचायती राज और खान मंत्री श्री नरेन्‍द्र सिंह तोमर ने आज कहा कि संसद का अं‍तरिम बजट सत्र 2019 सफल रहा, क्‍योंकि सभी राजनीतिक दलों ने राष्‍ट्रीय महत्‍व के विभिन्‍न मुद्दों पर विस्‍तृत चर्चा में भाग लिया। मी‍डिया के साथ आज यहां बातचीत में श्री तोमर ने यह बात कही। इस अवसर पर संसदीय कार्य, सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्‍वयन मंत्रालय में राज्‍यमंत्री श्री विजय गोयल, संसदीय कार्य और जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण राज्‍यमंत्री श्री अर्जुन राम मेघवाल भी मौजूद थे।  

      16वीं लोकसभा के कार्यकाल का विवरण देते हुए उन्‍होंने बताया कि लोकसभा की 331 बैठकें हुई, 205 विधेयक पारित किए गए और 85 प्रतिशत कामकाज हुआ। इस दौरान राज्‍यसभा की 329 बैठकें हुई, 154 विधेयक पारित किए गए और 68 प्रतिशत कामकाज हुआ।

      श्री तोमर ने बताया कि अंतरिम बजट सत्र 31 जनवरी 2019 को शुरू हुआ और आज 13 फरवरी, 2019 को अनिश्चितकाल के लिए स्‍थगित कर दिया गया। सत्र के दौरान 14 दिन की अवधि में 10 बैठकें हुई। लोकसभा में 89 प्रतिशत और राज्‍यसभा में करीब 8 प्रतिशत कामकाज हुआ।

      वर्ष का पहला सत्र होने के कारण राष्‍ट्रपति ने संसद के दोनों सदनों को 31 जनवरी, 2019 को सम्‍बोधित किया। लोकसभा में राष्‍ट्रपति के अभिभाषण पर धन्‍यवाद का प्रस्‍ताव श्री हुक्‍म देव नारायण यादव ने रखा और जग‍दम्बिका पाल ने उसका समर्थन किया। राष्‍ट्रपति के अभिभाषण पर धन्‍यवाद प्रस्‍ताव पर लोकसभा में 11 घंटे 16 मिनट चर्चा हुई, जबकि इसके लिए 8 घंटे का समय निर्धारित किया गया था। माननीय प्रधानमंत्री ने चर्चा का उत्‍तर दिया। राज्‍यसभा में श्री भूपेन्‍द्र यादव ने प्रस्‍ताव रखा और श्री विजय गोयल ने इसका समर्थन किया, जिसे 13. फरवरी,2019 को स्‍वीकार कर लिया गया।

      बजट सत्र मुख्‍य रूप से वित्‍तीय कामकाज को समर्पित था। सत्र के दौरान, शुक्रवार, 1 फरवरी, 2109 को 2019-20 के लिए अंतरिम बजट पेश किया गया। अंतरिम बजट में लोकसभा में सामान्‍य चर्चा हुई। लोकसभा में इस पर 7 घंटे 32 मिनट चर्चा हुई। संसद की कार्यवाही में बार-बार अवरोध पैदा किये जाने के कारण राज्‍यसभा अंतरिम बजट पर चर्चा नहीं कर पाई।

      लोकसभा में विनियोग (वोट ऑन एकाउंट) विधेयक 2019 और वर्ष 2018-19 के लिए तीसरी पूरक अनुदान मांगों से सम्‍बन्धित विनियोग विधेयक पेश किया गया, विचार किया गया और उसे 11 फरवरी, 2019 को पारित कर दिया गया, जबकि वित्‍त विधेयक 12 फरवरी, 2019 को पारित किया गया। राज्‍यसभा ने इन विधेयकों को 13 फरवरी को लौटा दिया।

      इस सत्र के दौरान कुल 9 विधेयक (लोकसभा में 3 और राज्‍यसभा में 6) पेश किए गए। लोकसभा ने 5 विधेयक, राज्‍यसभा ने 5 विधेयक तथा दोनों सदनों ने 4 विधेयक पारित किए। लोकसभा और राज्‍यसभा में पेश, लोकसभा में पारित, राज्‍यसभा  में पारित और दोनों सदनों में पारित विधेयकों की सूची नीचे दी गई है।

16वीं लोकसभा के 17वें सत्र और राज्‍यसभा के 248वें सत्र के दौरान निपटाया गया विधायी कामकाज। (अंतरिम बजट सत्र 2019)

            I –  लोक सभा में पेश विधेयक

1. वित्‍त विधेयक, 2019

2. विनियोग (वोट ऑन एकाउंट) विधेयक 2019

3. विनियोग विधेयक, 2019

II – राज्‍य सभा में पेश विधेयक

1. संविधान (एक सौ पच्‍चीसवां संशोधन) विधेयक, 2019

2. संविधान (अनुसूचित जनजाति) (तीसरा संशोधन) विधेयक, 2019

3. अप्रवासी भारतीयों का विवाह पंजीकरण विधेयक,2019

4. अंतर्राष्‍ट्रीय वित्‍तीय सेवा केन्‍द्र प्राधिकरण विधेयक, 2019

5. द सिनेमेटोग्राफ (संशोधन) विधेयक, 2019

6. राष्‍ट्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी, उद्यमिता और प्रबंधन विधेयक, 2019

 

III – लोक सभा द्वारा पारित विधेयक

1. वित्‍त विधेयक , 2019

2. विनियोग (वोट ऑन एकाउंट) विधेयक, 2019

3. विनियोग विधेयक , 2019

4. अनियमित जमा योजना पर रोक विधेयक, 2018

5. जलियांवाला बाग राष्‍ट्रीय स्‍मारक (संशोधन) विधेयक, 2019

#पर्सनल लॉ (संशोधन), विधेयक, 2019

IV – राज्‍य सभा द्वारा पारित विधेयक

1. वित्‍त विधेयक, 2019

2. विनियोग (वोट ऑन एकाउंट) विधेयक, 2019

3. विनियोग विधेयक, 2019

4. पर्सनल लॉ (संशोधन), विधेयक, 2019

5. संविधान (अनुसूचित जनजाति) (तीसरा संशोधन) विधेयक, 2019

V – संसद के दोनों सदनों द्वारा पारित विधेयक

1. विनियोग (वोट ऑन एकाउंट) विधेयक, 2019

2. विनियोग विधेयक, 2019

3. वित्‍त विधेयक , 2019

4. पर्सनल लॉ (संशोधन), विधेयक, 2019

 

# संधोधनों पर सहमति.

 

*****

आर.के.मीणा/एएम/केपी/आरएन