Print
XClose
पत्र सूचना कार्यालय
भारत सरकार
वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय
14-मई-2019 12:02 IST

अप्रैल, 2019 के लिए थोक मूल्य सूचकांक (आधार वर्ष : 2011-12 = 100) की समीक्षा

अप्रैल, 2019 के दौरानसभी जिंसोंके लिए आधि‍कारिक थोक मूल्‍य सूचकांक (आधार वर्ष: 2011-12=100)पिछले महीने के 120 अंक (अनंतिम) से 0.8 प्रतिशत बढ़कर 120.9 अंक (अनंतिम) हो गया।

मुद्रास्‍फीति

मासिक थोक मूल्‍य सूचकांक (डब्‍ल्‍यूपीआई) पर आधारित मुद्रास्‍फीति की वार्षिक दर अप्रैल, 2019 के दौरान (अप्रैल, 2018 की तुलना में) बढ़कर 3.07 प्रतिशत (अनंतिम) रही,जबकि इससे पिछले महीने यह 3.18 प्रतिशत (अनंतिम) थी। वहीं, पिछले वर्ष के इसी महीने में यह 3.62 प्रतिशत रही थी। वित्‍त वर्ष में अब तक क्रमिक वृद्धि के साथ मुद्रास्‍फीति की दर 0.75 प्रतिशत आंकी गई है, जबकि पिछले वर्ष की इसी अवधि में क्रमिक वृद्धि के साथ मुद्रास्‍फीति या महंगाई दर 0.86 प्रतिशत थी।

विभिन्‍न जिंस समूहों के सूचकांक में उतार-चढ़ाव कुछ इस प्रकार रहे :-

प्राथमिक वस्तुएं (भारांक 22.62 प्रतिशत)

इस प्रमुख समूह का सूचकांक पिछले महीने के 134.7 अंक (अनंतिम) से 3.3 प्रतिशत घटकर 139.2 अंक (अनंतिम) हो गया। महीने के दौरान जिन समूहों और वस्‍तुओं के सूचकांक में उतार-चढ़ाव देखे गए, वे इस प्रकार हैं :

खाद्य उत्‍पादसमूह का सूचकांक पिछले महीने के 145.1 अंक (अनंतिम) से 3.4 प्रतिशत बढ़कर 150.1 अंक (अनंतिम) हो गया। ऐसा मटर/चावली (6%), चाय (15%), फल और सब्जियां (14%), मक्‍का (5%), पोल्‍ट्री चिकन (4%), अरहर, बाजरा (3-3%), चना, मसालें, (3-3%), मसूर, उड़द, मटन, राजमा (1-1%) के मूल्‍य अधिक होने के बाद हुआ। तथापि पान (4%), अंडा (6%), गेहूं और जौं (3-3%) आदि के मूल्‍यों में गिरावट आई।  

‘अखाद्य पदार्थों’ के समूह का सूचकांक पिछले महीने के 123.5 अंक (अनंतिम) से 2.6 प्रतिशत बढ़कर अप्रैल, 2019 में 126.7 अंक (अनंतिम) हो गया। ऐसा फूल (11%), करडी बीज (9%), नाइजर सीड और अरंडी (6-6%), कच्‍चा कपास (7%), सोयाबीन और बिनौला (3’3%), कच्‍चा रेशम, अलसी, कच्‍चा रबड़ और चारा (1-1%), के मूल्‍य बढ़ने के कारण हुआ। हालांकि, कच्‍चा जूट, मेस्‍ता (3-3%), सूरजमुखी (2%), तोडि़या, सरसों (1-1%) के मूल्‍यों में गिरावट आई।   

खनिजसमूह का सूचकांक पिछले महीने के 136.7 अंक (अनंतिम) से 5.3 प्रतिशत से घटकर 144 अंक (अनंतिम) हो गया। ऐसा कॉपर सांद्रित (16%), क्रोमाइट (3%), सिलिमेनाट (27%) के मूल्‍य अधिक होने के कारण हुआ। हालांकि कच्‍चा लोहा, शीशा सांद्रित (5-5%) मैंगनीज अयस्‍क (3%) और चूना पत्‍थर (1%), के मूल्‍यों में गिरावट आई।

ईंधन एवं बिजली (भारांक 13.15 प्रतिशत) इस प्रमुख समूह का सूचकांक पिछले महीने के 87.6 अंक (अनंतिम) से 2.4 प्रतिशत बढ़कर 89.7 अंक (अनंतिम) हो गया।

‘खनिज तेल’ समूह का सूचकांक पिछले महीने के 95 अंक (अनंतिम) से 0.4 प्रतिशत बढ़कर 95.4 अंक (अनंतिम) हो गया। ऐसा एपीजी (5%), नैफ्था (3%), पेट्रोल और मिट्टी का तेल (2-2%) के मूल्‍य बढ़ने के कारण हुआ। हालांकि फर्नेस ऑयल‍ (2%),  एचएसडी (1%) के मूल्‍यों में गिरावट आई।

बिजली समूह के सूचकांक में बिजली के कम मूल्‍यों के कारण पिछले महीने के 110.7 अनंतिम की तुलना में सूचकांक 3.1 प्रतिशत घटकर 107.3 अनंतिम रहा।  

निर्मित उत्‍पाद (भारांक 64.23 प्रतिशत)

प्रमुख समूह का सूचकांक पिछले महीने के 118.3 (अनंतिम) के स्‍तर पर ही स्थिर रहा। इस मास के दौरान जिन समूहों और मदों में परिवर्तन हुआ है वे इस प्रकार हैं:-

खाद्य उत्‍पादों के निर्माणका सूचकांक पिछले महीने के 128.5 अंक (अनंतिम) से 0.2 प्रतिशत बढ़कर 128.7 अंक (अनंतिम) हो गया।‍ ऐसा प्रोसेस्‍ड चाय (9%), चिकन/डक, (साफ की हुई) (5-5%), तेल, अरडी, बेसन, भैंस का मांस, तोरिया (2-2%), चॉकलेट, कन्‍फैक्‍शनरी, हेल्‍थ सप्‍लि‍मेंट, दूध पाउडर प्रोसेस्‍ड और संरक्षित फल, सब्जियां, चीनी और मसालों (1-1%) के मूल्‍यों में बढ़ोतरी के कारण हुआ। हालांकि सीरा (29%), तेल मूंगफली (9%), तेल खोपरा और मैदा (3-3%), सरसों तेल, कॉफी पाउडर, सूजी, गेहूं आटा (2-2%), पाम ऑयल, सोयाबीन तेल, राइस ब्रान तेल (1-1%), के मूल्‍य कम हुए।

***

आर.के.मीणा/आरएनएम/एएम/आईपीएस/वीके –1185