विज्ञप्तियां उर्दू विज्ञप्तियां फोटो निमंत्रण लेख प्रत्यायन फीडबैक विज्ञप्तियां मंगाएं Search उन्नत खोज
RSS RSS
Quick Search
home Home
Releases Urdu Releases Photos Invitations Features Accreditation Feedback Subscribe Releases Advance Search
हिंदी विज्ञप्तियां
तिथि माह वर्ष
  • राष्ट्रपति सचिवालय
  • तीन देशों के राजनयिकों ने राष्‍ट्रपति को परिचय पत्र सौंपे  
  • उप राष्ट्रपति सचिवालय
  • उपराष्ट्रपति ने ओंगोल नस्ल की गाय को संरक्षित करने का आह्वान किया  
  • पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय
  • वन्‍य जीवों के गैर-कानूनी व्‍यापार के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए ‘सभी जानवर इच्‍छा से पलायन नहीं करते’ अभियान की शुरूआत  
  • विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय
  • किलोग्राम, केल्विन, मोल और एंपियर जैसी मापक इकाइयों की दुनिया को मिली नई परिभाषा  
  • वित्त मंत्रालय
  • स्टॉक्स की बिक्री (पुनः जारी) के लिए नीलामी  
  • सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय
  • वयोश्रेष्‍ठ सम्‍मान नामांकन- वरिष्‍ठ नागरिक राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार 2019 के लिए व्‍यक्‍तियों और संस्‍थाओं द्वारा नामांकन की अंतिम तारीख 31 मई 2019  

 
रक्षा मंत्रालय07-मई, 2014 19:33 IST

वायु सेना प्रमुख ने किया चंडीगढ़ एयर फोर्स स्टेशन का दौरा

भारतीय वायु सेना प्रमख एयर चीफ मार्शल अरुप राहा पीवीएसएम एवीएसएम, वीए, एडीएस एक दिन के दौरे पर एयर फोर्स के चंडीगढ़ स्थित 12 विंग और 13 बेस रिपेयर डिपो पहुंचे। एयर कमांडर एके बरीक वीएसएम, एओसी 3 बीआरडी ने उनका स्वागत किया। 3 बीआरडी के जवानों ने वायु सेना प्रमुख को शानदार गार्ड ऑफ ऑनर दिया। वायु सेना प्रमुख को बेस के कार्यों और इससे सबंधित अन्य तमाम गतिविधियों के बारे में बताया गया।

12 विंग, एएफ वायुसेना में बहुत महत्वपूर्ण ट्रांसपोर्ट बेस है। उत्तरी हिमालयी क्षेत्र के लिए तो ये एक जीवन रेखा है। 12 विंग सुरक्षा की दृष्टि से एक बेहद संवेदनशील इलाके में मौसम की चुनौतीपूर्ण स्थितियों के बीच कार्य करता है। ऐसे मुश्किल हालातों में ये विंग उत्तरी हिमालयी क्षेत्र में सभी ऑपरेशन्स का कुशलतापूर्वक संचालन करता है। 3 बीआरडी, एएफ एमआई-8, एमआई-17, एमआई 17 1वी और एमआई-17 वी5 हेलीकॉप्टरों की रिपेयरिंग और इनके रख-रखाव का कार्य करती है. वर्तमान में ये एमआई-17 वी 5 हेलीकॉप्टरों को शामिल करने की प्रक्रिया में जुटा हुआ है।

वायु सेना प्रमुख ने एयर फोर्स कर्मियों को संबोधित भी किया। उन्होंने सभी कर्मियों से आग्रह किया कि वे तेजी से विकसित हो रही तकनीक पर नजर रखें और उसे सीखें ताकि आधुनिक उपकरणों को अपनाया जा सके। वायु सेना प्रमुख ने वायु सेना के विजन 'पहला मिशन हमेशा जनता' के महत्व को रेखांकित किया। उन्होंने आत्मनिर्भरता की जरूरत पर बल देते हुए कहा कि वायु सेना के हर योद्धा को संगठन के लक्ष्य और व्यक्तिगत आकांक्षाओं की प्राप्ति के लिए पूरी निष्ठा और ईमानदारी से काम करना चाहिए।

***


वी.कासोटिया/पीवी/रूपेन-1501
(Release ID 27800)


  विज्ञप्ति को कुर्तिदेव फोंट में परिवर्तित करने के लिए यहां क्लिक करें
डिज़ाइन एवं होस्‍ट राष्‍ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी),सूचना उपलब्‍ध एवं अद्यतन की गई पत्र सूचना कार्यालय
ए खण्‍ड शास्‍त्री भवन, डॉ- राजेंद्र प्रसाद रोड़, नई दिल्‍ली- 110 001 फ़ोन 23389338