विज्ञप्तियां उर्दू विज्ञप्तियां फोटो निमंत्रण लेख प्रत्यायन फीडबैक विज्ञप्तियां मंगाएं Search उन्नत खोज
RSS RSS
Quick Search
home Home
Releases Urdu Releases Photos Invitations Features Accreditation Feedback Subscribe Releases Advance Search
हिंदी विज्ञप्तियां
तिथि माह वर्ष
  • उप राष्ट्रपति सचिवालय
  • पशुधन की उत्‍पादक क्षमता बढ़ाने और किसानों की आय दोगुनी करने के लिए एकीकृत खेती जरुरी : उपराष्‍ट्रपति  
  • सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय
  • 66 वें राष्‍ट्रीय फिल्‍म पुरस्‍कारों की घोषणा आम चुनाव 2019 के खत्‍म हो जाने के बाद की जाएगी  

 
राष्ट्रपति सचिवालय08-मई, 2014 17:32 IST

राष्ट्रपति ने भुगतान कार्ड ‘रुपे’ राष्ट्र को समर्पित किया

राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी ने आज राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक समारोह में भारत का अपना भुगतान कार्ड ‘रुपे’ राष्ट्र को समर्पित किया।

इस अवसर पर राष्ट्रपति ने भारतीय रिजर्व बैंक को इस बात के लिए बधाई दी कि उसने 2005 में ऐसी स्वदेशी सेवा की आवश्यकता की परिकल्पना कर ली थी और यह कार्य 2010 में इसके संचालन के तुरंत बाद भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई) को सौंप दिया था। उन्होंने कहा कि कार्ड भुगतान नेटवर्क को पूरी तरह कार्य रूप देने में सामान्यत: पाँच से सात वर्ष लग जाते हैं। उन्होंने यह जानकर प्रसन्नता व्यक्त की कि एनपीसीआई ने रुपे सेवा को अप्रैल, 2013 में ही शुरू कर दिया था।

राष्ट्रपति ने कहा कि रुपे जैसे स्वदेशी प्रणाली न केवल भुगतान के नकदी और चेक पर निर्भरता कम करेगी, बल्कि देश में विविध उपभोक्ता प्रणालियों की विशिष्ट आवश्यकताओं पर आधारित वस्तुएं उपलब्ध कराना सरल बना देगी।

उन्होंने कहा कि अब तक जारी 70 लाख कार्ड इस नेटवर्क की क्षमता का मात्र एक अंश हैं। पंजाब में दूध खरीदने वाली एजेंसियों या अनाज खरीदने वाली एजेंसियों द्वारा खरीद प्रीपेड कार्ड का शुभारंभ देश के भीतर विकसित भुगतान की विभिन्न प्रणालियों की एक किस्म है। उऩ्होंने कहा कि रुपे का राष्ट्र को समर्पण भारत में भुगतान प्रणाली के विकास और राष्ट्र निर्माण में भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम में योगदान की परिपक्वता का प्रतीक है।

राष्ट्रपति ने एनपीसीआई के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री ए. पी. होता को बधाई दी। उऩ्होंने रुपे कार्ड से संबंधित 17 बैंकों को उनके योगदान के लिए सराहना पट्टिकाएं भी प्रदान की।

इस अवसर पर वित्त मंत्रालय के वित्त सेवा सचिव श्री जी.एस. संधू, भारतीय बैंक एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री के. आर. कामथ और भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम के अध्यक्ष श्री बालाचंद्रन एम. भी उपस्थित थे।

***


वि.कासोटिया/एएम/एडीके/एमएस-1509
(Release ID 27809)


  विज्ञप्ति को कुर्तिदेव फोंट में परिवर्तित करने के लिए यहां क्लिक करें
डिज़ाइन एवं होस्‍ट राष्‍ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी),सूचना उपलब्‍ध एवं अद्यतन की गई पत्र सूचना कार्यालय
ए खण्‍ड शास्‍त्री भवन, डॉ- राजेंद्र प्रसाद रोड़, नई दिल्‍ली- 110 001 फ़ोन 23389338