विज्ञप्तियां उर्दू विज्ञप्तियां फोटो निमंत्रण लेख प्रत्यायन फीडबैक विज्ञप्तियां मंगाएं Search उन्नत खोज
RSS RSS
Quick Search
home Home
Releases Urdu Releases Photos Invitations Features Accreditation Feedback Subscribe Releases Advance Search
हिंदी विज्ञप्तियां
तिथि माह वर्ष
  • राष्ट्रपति सचिवालय
  • राष्‍ट्रपति ने गन्‍नौर, हरियाणा में चौथे कृषि नेतृत्‍व सम्‍मेलन के समापन समारोह को संबोधित किया    
  • प्रधानमंत्री कार्यालय
  • प्रधानमंत्री ने बिहार के लिए 33 हजार करोड़ रुपए की विकास परियोजनाओं का अनावरण किया, कहा कि फोकस विकास पर है और पूर्वी भारत एवं बिहार प्राथमिकता है   
  • आदिवासी मामलों के मंत्रालय
  • उपराष्‍ट्रपति 19 फरवरी 2019 को राष्‍ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग का स्‍थापना दिवस व्‍याख्‍यान देंगे  
  • कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय
  • भारतीय दिवाला और शोधन अक्षमता बोर्ड (आईबीबीआई) ने मुंबई में वित्‍तीय ऋणदाताओं के लाभ के लिए ‘‘ऋणदाताओं की समिति: लोक विश्‍वास की एक संस्‍था’’ पर अपनी तरह की प्रथम दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया    
  • सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय
  • डीईपीडब्‍ल्‍यूडी 18 फरवरी, 2019 को कोलकाता में दीनदयाल दिव्‍यांगजन पुनर्वास स्‍कीम (डीडीआरएस) पर क्षेत्रीय सम्‍मेलन आयोजित करेगा     

 
नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय15-जनवरी, 2016 16:01 IST

भारत में सौर ऊर्जा क्षमता ने 5,000 मेगावाट का जादुई आंकड़ा पार किया

मकर संक्रांति/पोंगल के शुभ अवसर पर कल भारत में सौर ऊर्जा की स्‍थापित क्षमता 5,000 मेगावाट का जादुई आंकड़ा पार कर गई। चालू वित्‍त वर्ष में 1,385 मेगावाट की स्‍थापित क्षमता हासिल करने के साथ ही देश में सौर ऊर्जा की स्‍थापित क्षमता अब कुल मिलाकर 5,130

     मकर संक्रांति/पोंगल के शुभ अवसर पर कल भारत में सौर ऊर्जा की स्‍थापित क्षमता 5,000 मेगावाट का जादुई आंकड़ा पार कर गई। चालू वित्‍त वर्ष में 1,385 मेगावाट की स्‍थापित क्षमता हासिल करने के साथ ही देश में सौर ऊर्जा की स्‍थापित क्षमता अब कुल मिलाकर 5,130 मेगावाट के स्‍तर को छू गई है। 5,130 मेगावाट सौर ऊर्जा का राज्‍यवार ब्‍यौरा निम्‍नलिखि‍त तालिका में दिया गया है। 1,264 मेगावाट सौर ऊर्जा के साथ राजस्‍थान राज्‍य देश भर में पहले स्‍थान पर विराजमान है। इसके बाद क्रमश: गुजरात (1,024 मेगावाट), मध्‍य प्रदेश (679 मेगावाट), तमिलनाडु (419 मेगावाट), महाराष्‍ट्र (379 मेगावाट) और आंध्र प्रदेश (357 मेगावाट) का नंबर आता है।

   सरकार ने राष्ट्रीय सौर मिशन के तहत वर्ष 2021-22 तक 100 गीगावाट (जीडब्‍ल्‍यू) सौर ऊर्जा पैदा करने का महत्वाकांक्षी लक्ष्य रखा है। 100 गीगावाट सौर ऊर्जा के लक्ष्‍य को पाने के लिए जमीन आधारित ग्रिड से जुड़ी 60 गीगावाट सौर ऊर्जा पैदा करने की परिकल्‍पना की गई है। इसी तरह यह लक्ष्‍य पाने के लिए छत पर ग्रिड इंटरैक्टिव सौर ऊर्जा के जरिए 40 गीगावाट सौर ऊर्जा पैदा करने की परिकल्‍पना की गई है। मंत्रालय ने देश भर में सौर ऊर्जा के उत्पादन पर नजर रखने के लिए वर्ष-वार लक्ष्य भी तय किए हैं। चालू वर्ष के लिए लक्ष्य 2,000 मेगावाट और अगले वर्ष के लिए लक्ष्य 12,000 मेगावाट है। मंत्रालय इन लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकारों की विभिन्न योजनाओं के माध्यम से हरसंभव प्रयास कर रहा है। यह योजना बनाई गई है कि लगभग 18,000 मेगावाट सौर ऊर्जा के लिए 31 मार्च, 2016 तक निविदाएं आमंत्रित कर ली जानी चाहिए।

   उपर्युक्‍त लक्ष्य प्राप्त करने के लिए नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय ने कई परियोजनाएं शुरू की हैं। सौर पार्कों एवं अल्ट्रा मेगा सौर ऊर्जा परियोजनाओं के विकास की योजना, कम पड़ने वाली धनराशि का इंतजाम करते हुए रक्षा एवं अर्धसैनिक बलों के मंत्रालय के अधीनस्‍थ रक्षा प्रतिष्ठानों द्वारा ग्रिड से जुड़ी 300 मेगावाट की सौर पीवी विद्युत परियोजनाओं की स्‍थापना करने वाली योजना और ग्रिड से जुड़ी 15000 मेगावाट सौर ऊर्जा की स्‍थापना करने वाली योजना भी इन परियोजनाओं में शामिल हैं। इसके अलावा, छतों पर सौर ऊर्जा परियोजनाओं की स्‍थापना के लिए मंत्रालय द्वारा एक महत्‍वाकांक्षी योजना शुरू की गई है। इसी तरह विभिन्‍न राज्‍य सरकारें भी अपनी-अपनी नीतियों के तहत सौर ऊर्जा परियोजनाएं शुरू कर रही हैं।

 

14 जनवरी, 2016 तक की स्थिति के अनुसार ग्रिड से जुड़ी सौर ऊर्जा परियोजनाओं को चालू किये जाने की ताजा स्थिति का राज्‍यवार ब्‍यौरा निम्‍नलिखित तालिका में दिया गया है-  

क्र. सं.

राज्‍य/केन्‍द्र शासित प्रदेश

 14-01-16 तक कुल स्‍थापित क्षमता (मेगावाट में)

1

आंध्र प्रदेश

357.34

2

अरुणाचल प्रदेश

0.265

3

छत्‍तीसगढ़

73.18

4

गुजरात

1024.15

5

हरियाणा

12.8

6

झारखंड

16

7

कर्नाटक

104.22

8

केरल

12.025

9

मध्‍य प्रदेश

678.58

10

महाराष्‍ट्र

378.7

11

ओडिशा

66.92

12

पंजाब

200.32

13

राजस्‍थान

1264.35

14

तमिलनाडु

418.945

15

तेलंगाना

342.39

16

त्रिपुरा

5

17

उत्‍तर प्रदेश

140

18

उत्‍तराखंड

5

19

पश्चिम बंगाल

7.21

20

अंडमान एवं निकोबार

5.1

21

दिल्‍ली

6.712

22

लक्षद्वीप

0.75

23

पुडुचेरी

0.025

24

चंडीगढ़

5.041

25

दमन एवं दीव

4

26

अन्‍य

0.79

कुल

5129.813

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

****

आरआरएस/वाईबी – 331




 

 

 

 

(Release ID 44329)


  विज्ञप्ति को कुर्तिदेव फोंट में परिवर्तित करने के लिए यहां क्लिक करें
डिज़ाइन एवं होस्‍ट राष्‍ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी),सूचना उपलब्‍ध एवं अद्यतन की गई पत्र सूचना कार्यालय
ए खण्‍ड शास्‍त्री भवन, डॉ- राजेंद्र प्रसाद रोड़, नई दिल्‍ली- 110 001 फ़ोन 23389338