विज्ञप्तियां उर्दू विज्ञप्तियां फोटो निमंत्रण लेख प्रत्यायन फीडबैक विज्ञप्तियां मंगाएं Search उन्नत खोज
RSS RSS
Quick Search
home Home
Releases Urdu Releases Photos Invitations Features Accreditation Feedback Subscribe Releases Advance Search
हिंदी विज्ञप्तियां
तिथि माह वर्ष
  • राष्ट्रपति सचिवालय
  • राष्ट्रपति का फिनलैंड के स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर संदेश   
  • राष्ट्रपति कल अंतर्राष्‍ट्रीय गीता महोत्‍सव – 2016 का उद्घाटन करेंगे   
  • आयुष
  • आयुष मंत्रालय ने भारत को आयुर्वेद चिकित्‍सा और शोध हब में बदलने के लिए विश्‍व के विशेषज्ञों से सुझाव मांगे: श्रीपद यशो नायक   
  • पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय
  • भारतीय बास्केट के कच्चे तेल की अंतर्राष्ट्रीय कीमत 02.12.2016 को 51.46 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल रही   
  • पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय
  • खराब मौसम की चेतावनी   
  • वित्त मंत्रालय
  • भारत सरकार ने कैशलेस/इलेक्ट्रॉनिक लेनदेन प्रोत्साहित करने के लिए नीतिगत निर्णय लिए; सरकारी कर्मचारियों से व्यक्तिगत लेनदेन में नकदी के बजाय डेबिट कार्ड का अधिक से अधिक उपयोग करने के लिए आगे आने को कहा  
  • सरकारी विभागों द्वारा आपूर्तिकर्ताओं, ठेकेदारों, गारंटी/ऋण देने वाली संस्थानों आदि को अब 5,000 रूपये से अधिक राशि का भुगतान ई-भुगतान के माध्यम से किया जाए, ताकि सरकारी भुगतान का पूर्ण डिजिटलीकरण करने का लक्ष्य प्राप्त किया जा सके   
  • डेबिट कार्ड एक्टिवेशन के लाभ (सक्रिय करने के लाभ) – एफएक्यू  

 
राष्ट्रपति सचिवालय18-जनवरी, 2016 20:29 IST

राष्‍ट्रपति ने युवकों से एतमाद,इत्‍फाक और कुर्बानी के नारे को अपनाने की अपील की

राष्‍ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी ने युवकों से एतमाद, इत्‍फाक और कुर्बानी के नारे को अपनाने की अपील की है। राष्‍ट्रपति महोदय ने नेताजी अनुसंधान ब्‍यूरो,कोलकाता को भेजे अपने संदेश में युवकों से यह आग्रह किया है। ब्‍यूरो ने सुभाष चंद्र बोस की 75 वीं जयंती पर 16 जनवरी को ‘महानिष्‍क्रमण’ दिवस मनाया।

राष्‍ट्रपति ने कहा ‘मुझे यह जानकर खुशी हो रही है कि नेताजी अनुसंधान ब्‍यूरो,कोलकाता, नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर 16 जनवरी को ‘महानिष्‍क्रमण’ दिवस मना रहा है।’

नेताजी सुभाषचंद्र बोस 16 जनवरी, 1941 की ऐतिहासिक रात्रि को अपनी वांडरर कार से अपने पैतृक घर एलिगन रोड, कोलकाता से भाग कर झारखंड के गोमो पहुंचे थे। अंग्रेजों की पहुंच से बाहर निकलने की यह उनकी पहली घटना थी।

***


एकेआर- 383
(Release ID 44386)


  विज्ञप्ति को कुर्तिदेव फोंट में परिवर्तित करने के लिए यहां क्लिक करें
डिज़ाइन एवं होस्‍ट राष्‍ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी),सूचना उपलब्‍ध एवं अद्यतन की गई पत्र सूचना कार्यालय
ए खण्‍ड शास्‍त्री भवन, डॉ- राजेंद्र प्रसाद रोड़, नई दिल्‍ली- 110 001 फ़ोन 23389338