विज्ञप्तियां उर्दू विज्ञप्तियां फोटो निमंत्रण लेख प्रत्यायन फीडबैक विज्ञप्तियां मंगाएं Search उन्नत खोज
RSS RSS
Quick Search
home Home
Releases Urdu Releases Photos Invitations Features Accreditation Feedback Subscribe Releases Advance Search
हिंदी विज्ञप्तियां
तिथि माह वर्ष
  • कार्मिक मंत्रालय, लोक शिकायत और पेंशन
  • जून के अंत तक 25 मंत्रालय/ वि‍भाग ई-ऑफिस में बदल जाएंगे : डॉ. जितेन्‍द्र सिंह   
  • खान मंत्रालय
  • विद्युत, कोयला, नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा और खान राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री पीयूष गोयल ने भूविज्ञान सलाहकार परिषद की पांचवीं बैठक की अध्‍यक्षता की  
  • गृह मंत्रालय
  • केन्‍द्रीय गृह सचिव श्री राजीव महर्षि ने आईटीबीपी के पर्वत धौलागिरी-। अभियान के सदस्‍यों की अगवानी की   
  • पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय
  • भारतीय बास्केट के कच्चे तेल की अंतर्राष्ट्रीय कीमत 26.06.2017 को 44.28* अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल रही  
  • पर्यावरण एवं वन मंत्रालय
  • सूचना प्रौद्योगिकी को प्रदूषण नियंत्रण व्यवस्था में शामिल किया जाना चाहिए, इस प्रणाली से भ्रष्टाचार का प्रदूषण साफ करने की जरूरत है : डॉ. हर्षवर्धन   
  • युवा मामले और खेल मंत्रालय
  • केन्द्रीय खेल मंत्री श्री विजय गोयल की दो दिवसीय मिजोरम यात्रा का समापन   
  • रेल मंत्रालय
  • रेल मंत्री श्री सुरेश प्रभाकर प्रभु ने बिलासपुर-मनाली-लेह की नई बड़ी लाइन के लिए अंतिम स्‍थान सर्वे की आधारशिला रखी  
  • वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय
  • भारत-म्‍यांमार संयुक्‍त व्‍यापार समिति की छठी बैठक आयोजित   
  • शहरी विकास मंत्रालय
  • शहरी विकास मंत्रालय ने डीयूएसआईबी तथा दिल्‍ली के तीन नगर-निगमों से स्‍वच्‍छ कार्य योजना की मांग की   
  • शिपिंग मंत्रालय
  • क्रूज पर्यटन भारत की अर्थव्यवस्था को विकास प्रदान करेगा- श्री नितिन गडकरी   
  • सूक्ष्म, लघु और मझौले उद्यम मंत्रालय
  • श्री कलराज मिश्र ने राष्‍ट्रीय एमएसएमई पुरस्‍कार 2015 प्रदान किये   
  • सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय
  • प्रधानमंत्री 29 जून, 2017 को राजकोट सामाजिक अधिकारिता शिविर में सबसे अधिक संख्‍या में दिव्‍यांगजनों को सम्‍मानित करेंगे   

 
वित्त मंत्रालय11-जनवरी, 2017 19:52 IST

वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली ने नोटबंदी का उल्लेख करते हुए कहा कि कठोर फैसलों से शुरू में कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है, क्योंकि ऐतिहासिक निर्णयों से अस्थांयी कष्ट जुड़े रहते हैं

वित्‍त मंत्री ने जीएसटी को लागू करने पर विशेष जोर देते हुए कहा कि ज्‍यादातर मसले सुलझा लिए गए हैं, जबकि शेष महत्‍वपूर्ण मसलों को अगले कुछ हफ्तों में सुलझा लिया जाएगा

केंद्रीय वित्‍त मंत्री श्री अरुण जेटली ने भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था में व्‍यापक बदलाव लाने के उद्देश्‍य से लिए जाने वाले साहसिक निर्णयों से फायदे होने की बात दोहराई। उन्‍होंने कहा कि कठोर फैसलों से शुरू में कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है, क्‍योंकि ऐतिहासिक निर्णयों से अस्‍थायी कष्‍ट जुड़े रहते हैं। नोटबंदी का उल्‍लेख करते हुए श्री जेटली ने कहा कि भारत को साहसिक निर्णय लेने की जरूरत है क्‍योंकि अब व्‍यवस्‍था में पारदर्शिता लाने का वक्‍त आ गया है। उन्‍होंने कहा कि नोटबंदी का हमारी वर्तमान एवं आगे की जिंदगी पर निश्‍चित रूप से असर पड़ेगा। श्री जेटली आज गांधीनगर के महात्‍मा मंदिर में वाइब्रेंट गुजरात वैश्‍विक निवेशक शिखर सम्‍मेलन के दूसरे दिन जीएसटी: भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था के लिए गेम चेंजरविषय पर आयोजित एक संगोष्‍ठी को संबोधित कर रहे थे।

वस्‍तु एवं सेवा कर (जीएसटी) को लागू करने पर विशेष जोर देते हुए वित्‍त मंत्री ने कहा कि ज्‍यादातर मसले सुलझा लिए गए हैं। वहीं, कुछ महत्‍वपूर्ण मुद्दों को निपटाना अभी बाकी है, जिन्‍हें अगले कुछ हफ्तों में सुलझा लिया जाएगा। उन्‍होंने यह भी कहा कि जीएसटी परिषद लोकतांत्रिक ढंग से कार्य कर रही है और जीएसटी एवं नोटबंदी दोनों के ही असर इस साल महसूस किए जाएंगे।

शिखर सम्‍मेलन का उल्‍लेख करते हुए श्री जेटली ने कहा कि इसे वाइब्रेंट गुजरात का ब्रांड नाम दिया गया है, लेकिन यह एक महत्‍वपूर्ण आर्थिक सम्‍मेलन में तब्‍दील हो गया है।

गुजरात के मुख्‍यमंत्री श्री विजय रूपानी, गुजरात के उप मुख्‍यमंत्री श्री नितिन पटेल, भारत सरकार के राजस्‍व सचिव डॉ. हसमुख अधिया और कनाडा सरकार के बुनियादी ढांचागत एवं समुदाय मंत्री श्री अमरजीत सोही भी इस अवसर पर उपस्‍थित थे।

 

 

***

 

वीके/आरआरएस/एसकेपी

(Release ID 59034)


  विज्ञप्ति को कुर्तिदेव फोंट में परिवर्तित करने के लिए यहां क्लिक करें
डिज़ाइन एवं होस्‍ट राष्‍ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी),सूचना उपलब्‍ध एवं अद्यतन की गई पत्र सूचना कार्यालय
ए खण्‍ड शास्‍त्री भवन, डॉ- राजेंद्र प्रसाद रोड़, नई दिल्‍ली- 110 001 फ़ोन 23389338