विज्ञप्तियां उर्दू विज्ञप्तियां फोटो निमंत्रण लेख प्रत्यायन फीडबैक विज्ञप्तियां मंगाएं Search उन्नत खोज
RSS RSS
Quick Search
home Home
Releases Urdu Releases Photos Invitations Features Accreditation Feedback Subscribe Releases Advance Search
हिंदी विज्ञप्तियां
तिथि माह वर्ष
  • राष्ट्रपति सचिवालय
  • भारत के राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविन्द का नागरिक अभिनंदन समारोह में सम्बोधन  
  • उप राष्ट्रपति सचिवालय
  • आपदा चुनौतियों से निपटने के लिए बुनियादी ढांचे के निर्माण में केन्‍द्र दक्षिणी राज्‍यों की मदद करे : उप राष्‍ट्रपति  
  • गृह मंत्रालय
  •  सुरक्षा की पहली दीवार है बीएसएफ: श्री राजनाथ सिंह  
  • चुनाव आयोग
  • कर्नाटक विधान परिषद के लिए द्विवार्षिक चुनाव  
  • जल संसाधन मंत्रालय
  • नितिन गडकरी ने “गंगा और इसकी जैव-विविधताः आवास एवं प्रजाति संरक्षण के लिए रोडमैप विकास” पर कार्यशाला का उद्घाटन किया  
  • पर्यटन मंत्रालय
  • अप्रैल 2018 में 7 लाख से अधिक विदेशी पर्यटकों का आगमन, अप्रैल 2017 की तुलना में विदेशी पर्यटकों की संख्या में 4.4% की वृद्धि दर्ज  
  • पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय
  • देश भर में अंतर्राष्ट्रीय जैव-विविधता दिवस मनाया गया, हैदराबाद में राष्ट्रीय स्तर का उत्सव आयोजित हुआ  
  • रेल मंत्रालय
  • रेल मंत्रालय ने आरपीएफ/आरपीएसएफ में 9739 पदों की भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किए  
  • वित्त मंत्रालय
  • एशियाई अवसंरचना निवेश बैंक (एआईआईबी) की तीसरी वार्षिक बैठक की तैयारी के रूप में स्‍वच्‍छ और नवीकरणीय ऊर्जा पर एक दिवसीय क्षेत्रीय सम्‍मेलन  
  • स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय
  • श्री जे.पी. नड्डा ने केरल में निपाह वायरस मामलों की समीक्षा की  

 
कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय 11-जनवरी, 2017 20:07 IST

भारत और इजरायल कृषि क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह से आज इजरायल के कृषि एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री यूरी एरियल की अगुवाई वाले इजरायली प्रतिनिधिमंडल ने भेंट की। इस दौरान भारत और इजरायल के बीच कृषि क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग से जुड़े मुद्दों पर विचार-विमर्श किया गया। दोनों ही पक्षों ने दोनों देशों के बीच कृषि एवं संबद्ध क्षेत्रों में सहयोग की दिशा में हुई प्रगति पर संतोष व्‍यक्‍त किया।

दोनों ही पक्षों ने कृषि क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग को और अधिक बढ़ाने के लिए अपनी प्रतिबद्धता व्‍यक्‍त की, जो इस तथ्‍य से साफ जाहिर होती है कि बागवानी के क्षेत्र में वर्ष 2015 से लेकर वर्ष 2018 तक की कार्य योजना के तीसरे चरण को हाल ही में दोनों देशों द्वारा अंतिम रूप दिया गया है। इस कार्यक्रम के तहत विभिन्‍न फलों एवं सब्‍जियों की खेती के लिए 21 राज्‍यों में 27 उत्‍कृष्‍टता केंद्र (सीओई) स्‍थापित किए जा रहे हैं, जिनमें से 15 उत्‍कृष्‍टता केंद्रों की स्‍थापना का काम पूरा हो चुका है।

यही नहीं, दोनों ही पक्षों ने यह उम्‍मीद जताई कि इस सहयोग को जारी रखते हुए दोनों देश अनेक नए क्षेत्रों में भी एक-दूसरे की सरकारों एवं कारोबारियों के बीच सहयोग की शुरुआत कर सकते हैं, ताकि आपसी रिश्‍तों को और ज्‍यादा प्रगाढ़ किया जा सके।

 

 

***

 

वीके/आरआरएस/एसकेपी

(Release ID 59036)


  विज्ञप्ति को कुर्तिदेव फोंट में परिवर्तित करने के लिए यहां क्लिक करें
डिज़ाइन एवं होस्‍ट राष्‍ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी),सूचना उपलब्‍ध एवं अद्यतन की गई पत्र सूचना कार्यालय
ए खण्‍ड शास्‍त्री भवन, डॉ- राजेंद्र प्रसाद रोड़, नई दिल्‍ली- 110 001 फ़ोन 23389338