विज्ञप्तियां उर्दू विज्ञप्तियां फोटो निमंत्रण लेख प्रत्यायन फीडबैक विज्ञप्तियां मंगाएं Search उन्नत खोज
RSS RSS
Quick Search
home Home
Releases Urdu Releases Photos Invitations Features Accreditation Feedback Subscribe Releases Advance Search
हिंदी विज्ञप्तियां
तिथि माह वर्ष
  • राष्ट्रपति सचिवालय
  • राष्‍ट्रपति ने पांचों लद्दाख स्‍काउट्स बटालियनों और लद्दाख स्‍काउट्स रेजिमेंटल सेन्‍टर को निशान प्रदान करने के लिए लेह का दौरा किया   
  • उप राष्ट्रपति सचिवालय
  • संसद और राज्‍य विधानसभाओं में नियमित अवरोध चिंता का विषय है : उपराष्‍ट्रपति   
  • उपराष्‍ट्रपति ने उत्‍तर प्रदेश में हुई ट्रेन दुर्घटना में मरने वालों के प्रति शोक व्‍यक्‍त किया  
  • प्रधानमंत्री कार्यालय
  • प्रधानमंत्री ने मृदा स्‍वास्‍थ्‍य कार्ड और पीएमएफबीवाई में प्रगति की समीक्षा की   
  • कृषि मंत्रालय
  • भारत छोड़ो आन्‍दोलन की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर पूरे देश में संकल्‍प से सिद्धि कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है  
  • खान मंत्रालय
  • जून 2017 में खनिज पदार्थों का उत्‍पादन (अनंतिम)   
  • गृह मंत्रालय
  • श्री धर्मेंद्र कुमार रेलवे सुरक्षा बल के महानिदेशक नियुक्त किए गए   
  • केन्‍द्रीय गृह मंत्री ने सीसीटीएनएस परियोजना के अंतर्गत डिजिटल पुलिस पोर्टल का शुभारंभ किया   
  • भारत और चीन के बीच डोकलाम गतिरोध का जल्‍द समाधान होने की आशा : श्री राजनाथ सिंह   
  • नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय
  • श्री पीयूष गोयल ने 8वीं विश्‍व नवीकरणीय ऊर्जा प्रौद्योगिकी कांग्रेस को संबोधित किया  
  • नागर विमानन मंत्रालय
  • वर्ष 2017 के दौरान घरेलू एयरलाइन्स का प्रदर्शन  
  • पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय
  • भारतीय बास्केट के कच्चे तेल की अंतर्राष्ट्रीय कीमत 18.08.2017 को 49.75 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल रही   
  • पर्यटन मंत्रालय
  • जुलाई, 2017 में भारत में पर्यटन के माध्‍यम से विदेशी मुद्रा आय   
  • रक्षा मंत्रालय
  • लैंडिंग क्राफ्ट यूटिलिटी एमके-4 के दूसरे जहाज ‘आईएन एलसीयू एल52’ (जीआरएसई यार्ड 2093) की पोर्ट ब्लेयर में शुरूआत   
  • भारतीय सैन्य अकादमी में जेंटलमेन कैडेट का निधन   
  • वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय
  • बौद्धिक संपदा अधिकारों को लागू करने पर राष्‍ट्रीय कार्यशाला   
  • वित्त मंत्रालय
  • सरकारी स्‍टॉक की बिक्री (पुनर्निर्गम) के लिए नीलामी   
  • सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय
  • आईएफएफआई 2017 के लिए समीक्षा समिति गठित   
  • स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय
  • स्‍वास्‍थ्‍य सचिव ने राष्‍ट्रीय स्‍वस्‍थ मिशन समीक्षा बैठक की अध्‍यक्षता की   
  • संस्कृति मंत्रालय
  • 15 अगस्त, 2017 से 28 जनवरी, 2018 तक लाइबेरिया के कोटे डी आईवरी तथा गिनिया में भारत महोत्सव का आयोजन   
  • सांख्यिकी एवं कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय
  • लैंगिक भेदभाव जड़ से समाप्त करना आवश्यक : श्री डी वी सदानंद गौड़ा   

 
शहरी विकास मंत्रालय17-मार्च, 2017 17:29 IST

पांच साल की मिशन अवधि के लिए तेलंगाना को अटल मिशन निवेश की मंजूरी

12 शहरों में मूलभूत शहरी बुनियादी ढांचे में खर्च किये जाएंगे 1,673 करोड़ रूपये

832 करोड़ रूपये की सहायता प्रदान करेगा केन्‍द्र

 

अकेले तीन वर्षों के दौरान वारंगल में जल आपूर्ति में सुधार के लिए 425 करोड़ रूपये खर्च किये जाएंगे

 

कायाकल्‍प एवं शहरी रूपांतरण के लिए अटल मिशन (अमृत) की केन्‍द्र-प्रायोजित योजना के तहत 2019-20 तक तेलंगाना के 12 मिशन शहरों के बुनियादी शहरी ढांचे में सुधार के लिए 1,673 करोड़ रूपये खर्च किये जाएंगे। यह मिशन का अंतिम वर्ष होगा।

केन्‍द्रीय शहरी विकास मंत्री श्री वेंकैया नायडू ने अटल मिशन के तहत अगले तीन वित्‍तीय वर्षों के दौरान (2017-2020) 703 करोड़ रूपये की मंजूरी दी है। मिशन का कुल निवेश 1,673 करोड़ रूपये है।

2015-16 के लिए 415 करोड़ रूपये और 2016-17 के लिए 555 करोड़ रूपये के व्‍यय को संबंधित वर्षों के लिए राज्‍य वार्षिक योजनाओं के तहत राज्‍य सरकार द्वारा प्रस्‍तावित किया गया था, जिसे पहले शहरी विकास मंत्रालय द्वारा अनुमोदित किया गया।

शहरी विकास मंत्रालय ने पांच साल के मिशन के लिए कुल 832 करोड़ रूपये की केन्‍द्रीय सहायता प्रदान की, जो कुल खर्चें का लगभग आधा हिस्‍सा है और इसे तेलंगाना के 12 मिशन शहरों पर खर्च किया जाना है।

2017-2020 के लिए 703 करोड़ रूपये की मंजूरी दी गई है, जिसमें मिशन शहरों में 560 करोड़ रूपये जलापूर्ति परियोजनाओं पर, 126 करोड़ रूपये सीवरेज नेटवर्क के विस्‍तार तथा 17 करोड़ रूपये पार्को और हरित क्षेत्रों के निर्माण पर खर्च होंगे। इसमें से 424.26 करोड़ रूपये वारंगल में जलापूर्ति परियोजनाओं के लिए खर्च किये जाएंगे।

तेलंगाना के 12 मिशन शहरों में अगले तीन वर्षों (2017-20) के निवेश का विवरण नीचे दिया जा रहा है :

क्र.सं.

शहर/कस्‍बा

जलापूर्ति

(करोड़ रूपये में)

सीवरेज और सेप्‍टगेज प्रबंधन (करोड़ रूपये में)

हरित क्षेत्र और पार्क (करोड़ रूपये में)

कुल (करोड़ रूपये में)

1

वारंगल

424.26

    0.00

1.44

425.70

2

सिद्धिपेट

    0.00

100.00

1.50

101.50

3

खम्मम

  47.84

    0.00

1.00

  48.84

4

महबूबनगर

  41.58

    0.00

1.50

  43.08

5

निजामाबाद

    4.52

  26.00

1.79

  32.31

6

करीमनगर

  24.98

    0.00

1.50

  26.48

7

नालगोंडा

  11.28

    0.00

0.75

  12.03

8

मिरयालगुडा

    4.07

    0.00

1.80

   5.87

9

सूर्यापेट

    1.45

    0.00

1.25

   2.70

10

जीएचएमसी

    0.00

    0.00

2.02

   2.02

11

रामगुंडम

    0.00

    0.00

1.50

   1.50

12

आदिलाबाद

    0.00

    0.00

0.95

   0.95

 

तेलंगाना सरकार ने वर्ष 2015-17 के लिए विभिन्‍न शहरों और कस्‍बों के लिए अनुमोदित प्रस्‍तावों के आधार पर विभिन्‍न मिशन शहरों के लिए अगले तीन वर्षों के खर्च को प्रस्‍तावित किया है।

अमृत के अंतर्गत मिशन शहरों में सभी शहरी परिवारों को पानी के नल का प्रावधान तथा प्रतिदिन 135 लीटर पानी प्रति व्‍यक्ति देने को प्राथमिकता दी है। इसके बाद सीवरेज और ड्रेनेज का विस्‍तार किया जाना है, जबकि हर साल मिशन शहरों  में हरित और खुले क्षेत्रों को विकसित करना अनिवार्य है।

 

इस मिशन के तहत शहरी आबादी तथा प्रत्‍येक राज्‍य/केन्‍द्र शासित प्रदेशों में शहरी स्‍थानीय निकायों की संख्‍या के आधार पर राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों को पांच साल की अवधि के लिए केन्‍द्रीय सहायता आबंटित की जाती है। एक लाख से ज्‍यादा आबादी वाले शहरों तथा कस्‍बों को मिशन में शामिल किया गया है और तदानुसार, तेलंगाना के 12 शहर और कस्‍बें 500 मिशन शहरों में शामिल हैं। राज्‍य और शहरी सरकारों ने बराबरी के योगदान के आधार पर कार्य योजना को प्रस्‍तावित किया है।

 

आंध्र प्रदेश के लिए कुल 2,890 करोड़ रूपये का निवेश है, जिसमें 1,057 करोड़ रूपये की केन्‍द्रीय सहायता शामिल है, जिसे 2015-20 के पंचवर्षीय मिशन के लिए 33 मिशन शहरों के लिए प्रस्‍तावित किया गया है।

 

केन्‍द्र सरकार ने 2015-20 के दौरान 500 मिशन शहरों में बुनियादी शहरी सुविधाओं में सुधार के लिए 50 हजार करोड़ रूपये की केन्‍द्रीय सहायता प्रदान करने का अनुमोदन किया है।

***

वीके/केजे/जीआरएस- 735

(Release ID 60026)


  विज्ञप्ति को कुर्तिदेव फोंट में परिवर्तित करने के लिए यहां क्लिक करें
डिज़ाइन एवं होस्‍ट राष्‍ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी),सूचना उपलब्‍ध एवं अद्यतन की गई पत्र सूचना कार्यालय
ए खण्‍ड शास्‍त्री भवन, डॉ- राजेंद्र प्रसाद रोड़, नई दिल्‍ली- 110 001 फ़ोन 23389338