विज्ञप्तियां उर्दू विज्ञप्तियां फोटो निमंत्रण लेख प्रत्यायन फीडबैक विज्ञप्तियां मंगाएं Search उन्नत खोज
RSS RSS
Quick Search
home Home
Releases Urdu Releases Photos Invitations Features Accreditation Feedback Subscribe Releases Advance Search
हिंदी विज्ञप्तियां
तिथि माह वर्ष
  • उप राष्ट्रपति सचिवालय
  • नये एमबीबीएस स्‍नातकों को पहला प्रमोशन देने से पहले ग्रामीण इलाकों में उनकी तैनाती  अनिवार्य बनाई जाए : उप राष्‍ट्रपति  
  • प्रधानमंत्री कार्यालय
  • चीन रवाना होने से पहले प्रधानमंत्री का वक्‍तव्‍य  
  • उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय, खाद्य और सार्वजनिक वितरण
  • भारतीय मानक ब्‍यूरो ने अखिल भारतीय आघार पर तरल क्‍लोरीन के लिए पहला लाइसेंस दिया  
  • कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय
  • नेफेड ने प्रभावशाली प्रदर्शन किया, माननीय प्रधानमंत्री, केन्द्रीय कृषि मंत्री, केन्द्र एवं राज्य सरकारों और ऋणदाता बैंकों के मार्गदर्शन और समर्थन के लिए आभार प्रकट करने वाला समारोह आयोजित किया   
  • कार्मिक मंत्रालय, लोक शिकायत और पेंशन
  • कैट के अध्यक्ष श्री जस्टिस दिनेश गुप्ता ने राज्य मंत्री डॉ. जितेन्द्र सिंह से मुलाकात की  
  • गृह मंत्रालय
  • श्री राजनाथ सिंह ने गांधीनगर में पश्चिमी आंचलिक परिषद की 23वीं बैठक की अध्‍यक्षता की  
  • एनडीएमए ने भूकंप पर पूर्वोत्‍तर में मॉक अभ्‍यास किया  
  • जल संसाधन मंत्रालय
  • देश के 91 प्रमुख जलाशयों के जलस्तर में एक प्रतिशत की कमी आई  
  • नागर विमानन मंत्रालय
  • मेक-इन-इंडिया के तहत वायुयानों का विनिर्माण एवं पर्यटन क्षेत्र में सुरक्षा एवं हिफाजत हमारी शीर्ष प्राथमिकता होगीः सुरेश प्रभु  
  • नीति आयोग
  • नीति आयोग ने अटल न्यू इंडिया चैलेंजेज लांच करने की घोषणा की  
  • पर्यटन मंत्रालय
  • पर्यटन मंत्रालय ने अतुल्य भारत पर 360 डिग्री वर्चुअल रियलिटी (वीआर) वीडियो लांच किया  
  • महिला और बाल विकास मंत्रालय
  • राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) ने बाल यौन उत्पीड़न निवारण कार्य नीति पर परामर्श बैठक आयोजित की    
  • रेल मंत्रालय
  • श्री पीयूष गोयल ने भारतीय रेल में मानवरहित क्रॉसिंग खत्म करने के लिए एक मिशन मोड प्लान की समीक्षा की  
  • कुशीनगर दुर्घटना पर केंद्रीय रेल मंत्री श्री पीयूष गोयल का वक्तव्य   
  • सूक्ष्म, लघु और मझौले उद्यम मंत्रालय
  • राष्‍ट्रीय विदेश व्‍यापार निर्देशिका जारी  
  • सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय
  • महाराष्‍ट्र, नगालैंड, उत्तर प्रदेश के लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों और बिहार, झारखंड, केरल, महाराष्‍ट्र, मेघालय, पंजाब, उत्‍तराखंड, उत्‍तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल की राज्य विधानसभाओं में आकस्मिक रिक्तियां भरने के लिए उप-चुनाव का कार्यक्रम  
  • श्री गडकरी ने उद्योग से जुड़ी हस्तियों से सड़क दुर्घटनाएं कम करने के लिए नई पद्धति और सहयोग मांगा   
  • स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय
  • अश्‍विनी कुमार चौबेसड़क दुर्घटना के प्रति जागरूकता पर हैंडबुक जारीकी  

 
महिला और बाल विकास मंत्रालय17-अप्रैल, 2017 18:53 IST

पंचायतों की निर्वाचित महिला प्रतिनिधियों के लिए राष्ट्र-व्यापी प्रशिक्षण कार्यक्रम लांच किया गया

प्रशिक्षित निर्वाचित महिला प्रतिनिधि सरकारी कार्यक्रमों के लाभों को जन-जन तक ले जाने में मदद देंगी : श्रीमती मेनका संजय गांधी

 

 प्रशिक्षित महिला निर्वाचित प्रतिनिधि विकास परियोजनाओं को लागू करने में अधिक दायित्व, ईमानदारी और पारदर्शिता सुनिश्चित करेंगी : पंचायती राजमंत्री

 

महिला और बाल विकास मंत्रालय ने आज पंचायती राज मंत्रालय के सहयोग से पंचायतों की महिला निर्वाचित प्रतिनिधियों की क्षमता सृजन के लिए व्यापक मॉड्यूल और पूरे देश में महिला पंचायत नेताओं के प्रशिक्षकों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम लांच किया। महिला और बाल विकास मंत्री श्रीमती मेनका संजय गांधी ने आज नई दिल्ली में ग्रामीण विकास तथा पंचायती राजमंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर की उपस्थिति में वीडियों कांफ्रेंसिंग के माध्यम से रांची में प्रशिक्षण कार्यक्रम लांच किया। प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्देश्य पंचायतों की निर्वाचित महिला प्रतिनिधियों की क्षमता और शासन संचालन और कौशल बढ़ाना है ताकि गांवों का प्रशासन बेहतर तरीके से चले।

श्रीमती मेनका संजय गांधी ने झारखंड की चुनिंदा महिला प्रशिक्षकों / महिला सरपंचों को वीडियों कांफ्रेंसिंग के जरिये कहा कि पंचायत संस्थाओं में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत आरक्षण के बावजूद निर्वाचित महिला प्रतिनिधि काम में कारगर नहीं है क्योंकि उन्हें प्रशासन का ज्ञान और कौशल नहीं है और उनकी ओर से उनके पति कार्य करते हैं।

श्रीमती मेनका संजय गांधी ने कहा कि महिला प्रतिनिधियों को प्रशिक्षित करना होगा ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि निर्वाचित महिला प्रतिनिधि दिए गए कार्यों को जिम्मेदारी से पूरा करेंगी। महिला और बाल विकास मंत्री ने बताया कि इसी कारण से उनके मंत्रालय ने महिला सरपंचों तथा निचले स्तर पर महिला प्रतिनिधियों को प्रशिक्षित करने के लिए देश-व्यापी कार्यक्रम चलाया। यह कार्यक्रम इंजीनियरिंग (सड़क, नाली, शौचालय आदि निर्माण), वित्त, सामाजिक विकास, शिक्षा, स्वास्थ्य तथा पर्यावरण जैसे क्षेत्रों में प्रशिक्षित करने के लिए है। इसीतरह प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा अनेक नई योजनाएं लांच की गई हैं जो शोषित और वंचित लोगों के लाभ के लिए हैं। उन्होंने कहा कि महिला सरपंचें इन योजनाओं को लोगों तक ले जाने में मददगार साबित होंगी। इन योजनाओं में फसल बीमा योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, सुरक्षा बीमा योजना, सुकन्या समृद्धि योजना और मातृत्व लाभ योजना शामिल है। इसके अतिरिक्त प्रशिक्षण कार्यक्रम नेतृत्व के अगले स्तर तक पहुंचने में सहायक होगा।

महिला और बाल विकास मंत्री ने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा, लड़कियों की शिक्षा, महिला स्वास्थ्य, मनरेगा के अंतर्गत परिसंपत्ति सृजन और लाखों आगंनवाड़ियों के माध्यम से टीकाकरण तथा पौष्टिकता सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण विषय हो गया है और इसमें महिला सरपंचों को महत्वपूर्ण भूमिका निभानी चाहिए।

इस अवसर पर पंचायती राज, ग्रामीण विकास तथा पेय जल और स्वच्छता मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि 14वें वित्त आयोग के अंतर्गत पंचायतों को पांच वर्षों में दो लाख करोड़ रुपये मिलेंगे। पहले गांव के समग्र विकास के लिए तीस हजार करोड़ रुपये की राशि दी गई थी। श्री तोमर ने सड़क, नाली प्रणाली, शौचालय, कृषि तालाब तथा आवासीय इकाइयों जैसी विकास परियोजनाओं को लागू करने में उत्तरदायित्व, ईमानदारी और पारदर्शिता पर बल दिया। उन्होंने आशा व्यक्त की कि महिला प्रतिनिधि यह सुनिश्चित करने में मदद करेंगी।

श्री तोमर ने कहा कि ग्राम पंचायतों को अग्रिम रूप से योजना बनानी होगी ताकि गांव गरीबी और कुपोषण से मुक्त हो। उन्होंने कहा कि महिला सरपंच समूह बनाकर स्वच्छ भारत अभियान, प्रधानमंत्री आवास योजना, टीकाकरण, स्कूल नामांकन, महिलाओं तथा आमजन के लिए विभिन्न बीमा योजनाओँ, गर्भवती महिलाओं के लिएविभिन्न लाभों और नकद रहित लेन-देन के लिए भीम ऐप के प्रति सामान्य जागरूकता फैला सकती हैं।

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमती ललिता कुमारमंगलम ने कहा कि प्रशिक्षण कार्यक्रम की निगरानी की जाएगी। पहले चरण में झारखंड के 40 मास्टर प्रशिक्षक राज्य ग्रामीण विकास संस्थान रांची में प्रशिक्षित किए जायेंगे। अगले चरण में 3000 निर्वाचित महिला प्रतिनिधियों को झारखंड के सिमडेगा, पाकुड़ और चतरा में इन प्रशिक्षकों द्वारा प्रशिक्षित किया जाएगा।

 

 

***

वीके/एजी/सीएस-1058

 

(Release ID 60480)


  विज्ञप्ति को कुर्तिदेव फोंट में परिवर्तित करने के लिए यहां क्लिक करें
डिज़ाइन एवं होस्‍ट राष्‍ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी),सूचना उपलब्‍ध एवं अद्यतन की गई पत्र सूचना कार्यालय
ए खण्‍ड शास्‍त्री भवन, डॉ- राजेंद्र प्रसाद रोड़, नई दिल्‍ली- 110 001 फ़ोन 23389338