विज्ञप्तियां उर्दू विज्ञप्तियां फोटो निमंत्रण लेख प्रत्यायन फीडबैक विज्ञप्तियां मंगाएं Search उन्नत खोज
RSS RSS
Quick Search
home Home
Releases Urdu Releases Photos Invitations Features Accreditation Feedback Subscribe Releases Advance Search
हिंदी विज्ञप्तियां
तिथि माह वर्ष
  • आवास और शहरी गरीबी उपशमन मंत्रालय
  • पीएमएवाई (शहरी) के अंतर्गत उत्तर प्रदेश में शहरी निर्धनों के लिए 70,784 और मकान उपलब्ध होंगे।   
  • कार्मिक मंत्रालय, लोक शिकायत और पेंशन
  • डॉ. जितेन्‍द्र सिंह ने विभागीय कार्यवाही के लिए ऑन लाईन सॉफ्टवेयर लॉच किया   
  • खान मंत्रालय
  • खान मंत्रालय ने विज्ञान और प्रौद्योगिकी परियोजना प्रस्‍ताव आमंत्रित किए   
  • पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय
  • मई, 2017 में तेल व प्राकृतिक गैस क्षेत्र का उत्पादन  
  • भारतीय बास्केट के कच्चे तेल की अंतर्राष्ट्रीय कीमत 21.06.2017 को 44.45 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल रही  
  • पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालय
  • उत्‍तराखंड और हरियाणा देश के चौथे और पांचवें खुले में शौच मुक्‍त राज्‍य घोषित  
  • पर्यावरण एवं वन मंत्रालय
  • सरकार वन्‍य जीव अपराध को गंभीर मानती है, अपराधियों को किसी भी कीमत पर छोड़ा नहीं जाएगा : डॉ. हर्ष वर्धन  
  • रेल मंत्रालय
  • रेल मंत्री  ने भारतीय रेल के आंतरिक लेखा प्रणाली की वर्तमान स्थिति की समीक्षा की  
  • रेल मंत्री ने रेलवे की जमीन में वृक्षारोपण के बारे में रेल बोर्ड के अधिकारियों के साथ स्थिति की समीक्षा की   
  • वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय
  • राष्ट्रीय उत्पादकता परिषद के कचरा प्रबंधन नियम (2016) के अंतर्गत 6 नियमों के बारे में प्रशिक्षकों का प्रशिक्षण  
  • विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय
  • सर्वे ऑफ इंडिया का इतिहास दृढ़ता और त्‍याग से परिपूर्ण – डॉ. हर्षवर्धन  
  • वित्त मंत्रालय
  • भारत ने आंध्र प्रदेश में 24X7 बिजली आपूर्ति परियोजना के सह वित्तपोषण के लिए विश्व बैंक से 240 मिलियन डॉलर और एआईआईबी से 160 मिलियन डॉलर का ऋण समझौता किया  
  • श्रम एवं रोजगार मंत्रालय
  • ईपीएफ और एमपी अधिनियम 1952 की नई आवास योजना के अंतर्गत ईपीएफओ ने हुडको के साथ सहमति ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर किया  
  • संघ लोक सेवा आयोग
  • सम्मिलित चिकित्सा सेवा परीक्षा, 2016   
  • संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय
  • संचार मंत्री श्री मनोज सिन्हा ने दूरसंचार सेवा प्रदाताओं के प्रवर्तकों के साथ चर्चा की   
  • ‘सर्वे ऑफ इंडिया’ भारत को विश्‍व का सबसे बेहतर सर्वे किये जाने वाला देश बनाना चाहता है: मनोज सिन्‍हा  

 
सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय20-अप्रैल, 2017 15:22 IST

सरकार के लिए इंस्‍टाग्राम उभरते नए भारत की कहानी की अभिव्‍यक्‍ति :श्री वेंकैया नायडू

सूचना और प्रसारण मंत्री ने इंस्‍टाग्राम कार्यशाला का उद्घाटन किया

सूचना और प्रसारण मंत्री श्री एम. वेंकैया नायडू ने कहा है कि सोशल मीडिया सरकार की संचार आवश्‍यकताओं तथा प्रधानमंत्री के ‘न्‍यूनतम सरकार, अधिकतम शासन’ के विजन को क्रियान्‍वित करने का शक्‍तिशाली माध्‍यम है। यह सुधारकारी परिवर्तन लाने का महत्‍वपूर्ण माध्‍यम और उभरते नए भारत के लिए उत्‍प्रेरक है। सरकार के लिए यह संचार प्‍लेटफॉर्म इंस्‍टाग्राम इंद्रधनुष की तरह है जिसमें नए उभरते भारत की तस्‍वीर देखी जा सकती है।

सूचना और प्रसारण मंत्री आज यहां बेहतर सरकारी संचार के लिए इंस्टाग्राम पर कार्यशाला का उद्घाटन कर रहे थे। इस अवसर पर सूचना और प्रसारण राज्‍य मंत्री कर्नल राज्‍यवर्द्धन राठौर, पीआईबी के प्रधान महानिदेशक श्री फ्रैंक नोरोन्‍हा तथा मंत्रालय और पीआईबी के वरिष्‍ठ अधिकारी उपस्‍थित थे। 

            इंस्‍टाग्राम की भूमिका की चर्चा करते हुए श्री नायडू ने कहा कि यह माध्‍यम नागिरकों तथा अन्‍य हितधारकों से विजुअल रूप से जुड़ने का सरकार के लिए उचित स्‍थान बन गया है। पुरानी कहावत एक तस्‍वीर हजार शब्‍दों से मूल्‍यवान होती हैं का उदारहरण देते हुए उन्‍होंने कहा कि विज्‍यूअल तस्‍वीरों के माध्‍यम से त्‍यौहारों, संस्‍कृतिक आचार, क्षेत्र विशेष परिधान से भारत के विविध रंगों को देखा जा सकता है। उन्‍होंने बल देकर कहा कि प्रधानमंत्री स्‍वयं सोशल मीडिया पर अत्‍यधिक सक्रिय रहते हैं और फेसबुक, ट्वीटर तथा इंस्‍टाग्राम पर विश्‍व के सबसे अधिक फॉलो किए जाने वाले नेताओं में से हैं।

शासन संचालन में सोशल मीडिया के अवसरों और चुनौतियों की चर्चा करते हुए श्री नायडू ने कहा कि सोशल मीडिया नीति निर्माताओं को कार्रवाही योग्‍य सूचना और इनपुट प्रदान करता है ताकि बेहतर निर्णय लिए जा सकें। दूसरी ओर सोशल मीडिया ने पूरे विश्‍व में नागरिकों की सरकार से अपेक्षाओं को बढ़ा दिया है। नए डिजिटल युग में नागरिकों को महज सूचना से संतोष नहीं, बल्‍कि सूचना प्रदान करने की शीघ्रता और सूचना देने के तरीके से नागरिक संतुष्‍ट होते हैं। आज सोशल मीडिया कार्रवाही को आकार दे रहा है और समाचार चैनलों तथा समाचार पत्रों में विमर्श का विषय तय कर रहा है। उन्‍होंने कहा कि नए विश्‍व में लोग जिस तरह से एक-दूसरे से संवाद कर रहे हैं, उसे देखते हुए सरकार को सफल होने के लिए नए तरीके से संचार के प्रयास करने चाहिए।

सूचना और प्रसारण मंत्री ने कहा कि भारत सरकार कामकाज में सोशल मीडिया के सृजनात्‍मक और प्रणालीगत उपयोग के लिए संस्‍थागत रूप देने की दिशा में काम कर रही है।

कार्यशाला का आयोजन प्रेस इंफॉरमेशन ब्‍यूरो तथा इंस्‍टाग्राम की ओर से संयुक्‍त रूप से किया गया है। इंस्‍टाग्राम ने एशिया में पहली बार ऐसी कार्यशाला का आयोजन किया है। कार्यशाला का उद्देश्‍य इंस्‍टाग्राम प्‍लेटफॉर्म की विशेषताओं और एप्‍लीकेशनों से सरकारी अधिकारियों को परिचित कराना है ताकि सोशल मीडिया पर सरकार बेहतर संवाद कर सके और पहुंचे। 

*****

वीके/एजी/एसकेपी-1089

 

(Release ID 60520)


  विज्ञप्ति को कुर्तिदेव फोंट में परिवर्तित करने के लिए यहां क्लिक करें
डिज़ाइन एवं होस्‍ट राष्‍ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी),सूचना उपलब्‍ध एवं अद्यतन की गई पत्र सूचना कार्यालय
ए खण्‍ड शास्‍त्री भवन, डॉ- राजेंद्र प्रसाद रोड़, नई दिल्‍ली- 110 001 फ़ोन 23389338