विज्ञप्तियां उर्दू विज्ञप्तियां फोटो निमंत्रण लेख प्रत्यायन फीडबैक विज्ञप्तियां मंगाएं Search उन्नत खोज
RSS RSS
Quick Search
home Home
Releases Urdu Releases Photos Invitations Features Accreditation Feedback Subscribe Releases Advance Search
हिंदी विज्ञप्तियां
तिथि माह वर्ष
  • प्रधानमंत्री कार्यालय
  • प्रधानमंत्री ने तीन तलाक पर सर्वोच्‍च न्‍यायालय के फैसले का स्‍वागत किया   
  • इलेक्ट्रानिक्स एवं आईटी मंत्रालय
  • सीएससी नये भारत के निर्माण में प्रमुख भूमिका निभाएगा   
  • नीति आयोग
  • नीति आयोग "मेंटर इंडिया" अभियान शुरू करेगा   
  • पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय
  • भारतीय बास्केट के कच्चे तेल की अंतर्राष्ट्रीय कीमत 21.08.2017 को 50.97 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल रही  
  • पूर्वोत्तर क्षेत्र के विकास के लिए मंत्रालय
  • डॉ. जितेन्‍द्र सिंह का ‘मेक इन इंडिया’ स्‍वास्‍थ्‍य मॉड्यूल तैयार करने का आग्रह  
  • युवा मामले और खेल मंत्रालय
  • राष्‍ट्रीय खेल पुरस्‍कार 2017  
  • वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय
  • बौद्धिक सम्‍पदा अधिकारों को लागू करने पर नई दिल्‍ली में राष्‍ट्रीय कार्यशाला का उद्घाटन   
  • वित्त मंत्रालय
  • 30.6.2017 को समाप्‍त अप्रैल-जून तिमाही के लिए केन्‍द्रीय रिकार्ड रखने वाली एजेंसियों (सीआरए) द्वारा उपभोक्‍ताओं के लिए कामकाज को उन्‍नत बनाया गया   
  • वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली की अध्‍यक्षता में वित्तीय स्थिरता और विकास परिषद (एफएसडीसी) की 17वीं बैठक का आयोजन   

 
वित्त मंत्रालय20-अप्रैल, 2017 18:58 IST

नालको OFS सफल : सरकार को १२०० करोड़ की प्राप्ति

नालको OFS के द्वारा सरकार ने वर्ष २०१७-१८ की विनिवेश योजना का प्रारम्भ किया. इस के द्वारा सरकार की नालको में पूँजी घटा कर 65.३७% रह गयी है. वर्ष २०१७-१८ के लिए सरकार ने ७२,५०० करोड़ का लक्ष्य रखा है जो की सर्वकालीन उच्चतम लक्ष्य है. इस के पहले, वित्त मंत्रालय के निवेश व लोक परिसम्पति प्रबंधन (दीपम) विभाग ने वर्ष २०१६-१७ में ४६२४७ करोड़ का रिकॉर्ड प्राप्त किया था.

नालको में विनिवेश के लिए सरकार ने प्रारंभ में ५% पूँजी विनिवेश का लक्ष्य रखा था, किन्तु बाजार के शानदार रूझान को देकते हुए सरकार ने इस लक्ष्य को बाद में ९.२% तक बढ़ा दिया. इस विनिवेश प्रस्ताव में मूल लक्ष्य (५%) के स्थान पर निवेशकों ने २.५७ गुना निवेश किया. पुनर्निधारित है,९.२ % के सामने निवेशकों ने १.४३% गुना निवेश किया. वर्षा २०१६ से, जबसे से सेबी ने दो दिन की OFS प्रक्रिआ को लागू किया है, सरकार ने पहली बार इस विनिवेश के लिए ग्रीन शू विकल्प का प्रयोग किया.

यह देखा गया है की वित्त मंत्रालय के निवेश व लोक परिसम्पति प्रबंधन (दीपम) विभाग द्वारा हाल ही में किये चार OFS सौदों में खुदरा निवेशकों ने संस्थागत निवेशकों से कहीं ज़्यादा निवेश किया है. यह सरकार की विनिवेश निति के अनुरूप ही है, जिसमे सरकारी लोक उधमों की पूँजी में जनता की भागेदारी बढ़ाने पर जोर है.

वर्ष के प्रारम्भ में ही नालको में पूँजी विनिवेश की सफलता दर्शाती है की निवेश व लोक परिसम्पति प्रबंधन विभाग वर्ष २०१७-१८ के लिए निर्धारित विनिवेश के उच्च लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए कमर कस कर तैयार है.

****


DSM/VKS/KA
(Release ID 60527)


  विज्ञप्ति को कुर्तिदेव फोंट में परिवर्तित करने के लिए यहां क्लिक करें
डिज़ाइन एवं होस्‍ट राष्‍ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी),सूचना उपलब्‍ध एवं अद्यतन की गई पत्र सूचना कार्यालय
ए खण्‍ड शास्‍त्री भवन, डॉ- राजेंद्र प्रसाद रोड़, नई दिल्‍ली- 110 001 फ़ोन 23389338