विज्ञप्तियां उर्दू विज्ञप्तियां फोटो निमंत्रण लेख प्रत्यायन फीडबैक विज्ञप्तियां मंगाएं Search उन्नत खोज
RSS RSS
Quick Search
home Home
Releases Urdu Releases Photos Invitations Features Accreditation Feedback Subscribe Releases Advance Search
हिंदी विज्ञप्तियां
तिथि माह वर्ष
  • राष्ट्रपति सचिवालय
  • राष्‍ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद का प्रोफाइल   
  • भारत के राष्ट्रपति पद का कार्यभार संभालने के अवसर पर श्री राम नाथ कोविन्द का भाषण  
  • प्रधानमंत्री कार्यालय
  • प्रधानमंत्री आज दोपहर गुजरात के बाढ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे   
  • प्रधानमंत्री ने प्रोफेसर यशपाल के निधन पर शोक व्‍यक्‍त किया   
  • कृषि मंत्रालय
  • किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए कदम   
  • गृह मंत्रालय
  • बाढ़ से हुए नुकसान का जायदा लेने के लिए अंतर-मंत्रालय केन्‍द्रीय टीम असम पहुंची   
  • जम्‍मू एवं कश्‍मीर में तीर्थयात्रा के दौरान हमले का खतरा    
  • जल संसाधन मंत्रालय
  • जल मंथन – IV का आयोजन 28 और 29 जुलाई, 2017 को   
  • पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय
  • भारतीय बास्केट के कच्चे तेल की अंतर्राष्ट्रीय कीमत 24.07.2017 को 46.91 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल रही  
  • पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय
  • पृथ्‍वी विज्ञान मंत्रालय स्‍थापना दिवस   
  • पूर्वोत्तर क्षेत्र के विकास के लिए मंत्रालय
  • आईसीसी अध्यक्ष की पूर्वोत्तर में जीएसटी लागू करने के बारे में डॉ. जितेन्द्र सिंह के साथ बातचीत   
  • युवा मामले और खेल मंत्रालय
  • खेल मंत्री विजय गोयल ने फीफा अंडर -17 विश्व कप के लिए भारतीय फुटबॉल टीम से मुलाकात की   
  • रक्षा मंत्रालय
  • गुजरात के पीपावाव में आरडीईएल द्वारा पहले दो नौसैनिक अपतटीय गश्‍ती जहाज साची और श्रुति लांच किए गए  
  • रसायन और उर्वरक मंत्रालय
  • डीपीसीओ, 2013 के प्रावधानों का अनुपालन न करने के कारण दवा कंपनियों से 238.84 करोड़ रुपये वसूले गए – श्री मनसुख लाल मंडाविया  
  • वस्त्र मंत्रालय
  • पटसन किसानों की आय दोगुनी करने के लिए सरकार की पहल जूट- आईकेयर  
  • वित्त मंत्रालय
  • वित्‍त मंत्री श्री अरुण जेटली ने वस्‍तु एवं सेवा कर पर अध्‍ययन संबंधी ‘दि जीएसटी सागा: ए स्‍टोरी ऑफ एक्‍सट्राऑर्डनरी नेशनल एम्बिशन’ ग्रंथ का विमोचन किया   
  • जीएसटी परिषद ने मुनाफाखोरी के खिलाफ राष्ट्रीय प्राधिकरण के अध्यक्ष और सदस्यों की नियुक्ति के लिए योग्य व्यक्तियों की पहचान और सिफारिश करने के लिए मंत्रिमंडल सचिव की अध्यक्षता में चयन समिति गठित की  
  • सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय
  • अगले पांच वर्षों में राजमार्ग क्षेत्र के लिए सात लाख करोड़ रुपये निवेश की आवश्‍यकता

      
  • स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय
  • स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने मातृत्‍व मृत्‍यु निगरानी एवं मोचन (एमडीएसआर) को मजबूत बनाने और मातृत्‍व में व्‍यावधान पड़ने के कारणों की समीक्षा (एमएनएम) के लिए राष्‍ट्रीय कार्यशाला का आयोजन किया   
  • एम्स भोपाल में प्राध्यापकों की भर्ती में बढ़ोतरी   

 
श्रम एवं रोजगार मंत्रालय20-अप्रैल, 2017 19:46 IST

केंद्रीय राज्य मंत्री श्रम और रोजगार (स्वतंत्र प्रभार) ने 70 संस्थाओं को राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद अवॉर्ड-2016 से सम्मानित किया

सरकार कामगारों की सुरक्षा, स्वास्थ्य और कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है: श्री बंगारु दत्तात्रेय

केंद्रीय श्रम और रोजगार राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री बंगारु दत्तात्रेय ने कहा कि केंद्र सरकार कामगारों की सुरक्षा, स्वास्थ्य और कल्याण के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है। श्री बंगारू दत्तात्रेय राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के अवॉर्ड ‘एनएससीआई सेफ्टी अवॉर्ड-2016’ के मौके पर नई दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में बोल रहे थे।

कुल मिलाकर 70 संस्थाओं को 4 अलग-अलग श्रेणियों- सर्वश्रेष्ठ सुरक्षा पुरस्कार, श्रेष्ठ सुरक्षा पुरस्कार, सुरक्षा पुरस्कार और प्रशंसा पत्र में सम्मानित किया गया। इसके अलावा निर्माण क्षेत्र की संस्थाओं को भी सम्मानित किया गया। उत्पादन क्षेत्र में आईओसीएल- डिगबोई रिफाइनरी, राष्ट्रीय खाद निगम, पानीपत और एनपीसीआईएल, कैगा जेनरेटिंग स्टेशन 3 और 4, कैगा, कर्नाटक को क्रमश: ग्रुप-ए, ग्रुप-बी और ग्रुप-सी में जबकि निर्माण क्षेत्र में एल एंड टी लिमिटेड, रवातभाटा, चितौड़गढ़, राजस्थान, परमाणु ऊर्जा के क्षेत्र में एनपीसीआईएल परमाणु ऊर्जा परियोजना, गोदरेज और बोयस मैनुफैक्चरिंग कंपनी लिमिटेड जबकि मध्यम और लघु उद्योग के लिए इलेक्ट्रिकल्स एंड इलेक्ट्रॉनिक्स ठाणे, महाराष्ट्र ने 2016 के लिए सर्वश्रेष्ठ सुरक्षा पुरस्कार जीता है।

श्री बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि श्रम कानूनों में व्यवस्थागत सुधार लाने के लिए केंद्र ने एक प्रक्रिया शुरू की है जिसमें 44 केंद्रीय श्रम कानूनों को सरल करने के लिए उनको 4 कोड में वर्गीकृत और एकीकृत किया गया है। ये हैं वेतन के कोड, औद्योगिक संबंधों के कोड, सामाजिक सुरक्षा और कल्याण के कोड और सुरक्षा और कार्य की स्थिति को लेकर हैं। उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय श्रम संस्थान का संस्थापक सदस्य होने के नाते भारत ने श्रम मानदंडों को तैयार करने और लागू कराने में अहम योगदान दिया है। अब तक भारत ने अंतर्राष्ट्रीय श्रम संस्थान के 45 संधीपत्र और 1 प्रोटोकॉल को अंगीकार किया है। सरकार ने 2009 में कार्यस्थल पर पेशेवर सुरक्षा, स्वास्थ्य और पर्यावरण को लेकर राष्ट्रीय नीति की घोषणा की है। उसके बाद से राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर विज्ञान और तकनीक, व्यापार और उद्योग, वित्त और पर्यावरण के क्षेत्र में कई विकास हुए हैं। इस वजह से राष्ट्रीय नीति के समीक्षा के लिए अंतर मंत्रालय समिति का गठन किया गया है।

सुरक्षा अवॉर्ड के विजेताओं को बधाई देते हुए श्री बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि विजेता संस्थानों में से किसी ने भी पिछले 3 साल में कोई बड़ा हादसा नहीं होने दिया। जबकि उनमें से 41 में तो एक भी हादसा नहीं हुआ। राष्ट्रीय खाद निगम पानीपत ने तो पिछले 11 साल और 5 महीने में 49.67 मिलियन दुर्घटना रहित घंटे की उपलब्धि हासिल की है।

***


वीके/पीकेटी-1094
(Release ID 60529)


  विज्ञप्ति को कुर्तिदेव फोंट में परिवर्तित करने के लिए यहां क्लिक करें
डिज़ाइन एवं होस्‍ट राष्‍ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी),सूचना उपलब्‍ध एवं अद्यतन की गई पत्र सूचना कार्यालय
ए खण्‍ड शास्‍त्री भवन, डॉ- राजेंद्र प्रसाद रोड़, नई दिल्‍ली- 110 001 फ़ोन 23389338