विज्ञप्तियां उर्दू विज्ञप्तियां फोटो निमंत्रण लेख प्रत्यायन फीडबैक विज्ञप्तियां मंगाएं Search उन्नत खोज
RSS RSS
Quick Search
home Home
Releases Urdu Releases Photos Invitations Features Accreditation Feedback Subscribe Releases Advance Search
हिंदी विज्ञप्तियां
तिथि माह वर्ष
  • राष्ट्रपति सचिवालय
  • राष्ट्रपति ने गोरखपुर के महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद के स्थापना समारोह को संबोधित किया  
  • उप राष्ट्रपति सचिवालय
  • भारत और रूस के बीच सहयोग की संभावनाओं के पूर्ण दोहन के लिए उपयुक्‍त कानून बनाने पर रूस का विशेष जोर   
  • तनावपूर्ण माहौल में सुरक्षा बलों की कार्य क्षमता बनाए रखने के लिए खेलकूद अपरिहार्य आवश्यकता - उपराष्ट्रपति  
  • सत्‍तारुढ़ और विपक्षी दलों ने राज्‍यसभा के शीतकालीन सत्र के सुचारु संचालन में पूरे सहयोग का दिया आश्‍वासन : सभी को एक समान समय दिए जाने की अपील की राज्‍यसभा के सभापति ने सत्र के सुचारू संचालन के लिए सभी का सहयोग मांगा   
  • प्रधानमंत्री कार्यालय
  • प्रधानमंत्री ने श्री जगदीश ठक्‍कर के निधन पर शोक व्‍यक्‍त किया  
  • अल्‍पसंख्‍यक कार्य मंत्रालय
  • केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी ने राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग द्वारा आयोजित मानव अधिकार दिवस कार्यक्रम की अध्‍यक्षता की  
  • कार्मिक मंत्रालय, लोक शिकायत और पेंशन
  • सिविल सोसायटी की सक्रिय भागीदारी से ही सुशासन संभवः केरल के राज्यपाल न्यायमूर्ति (सेवानिवृत) पी. सतशिवम  
  • गृह मंत्रालय
  • एनडीएमए ने नई दिल्ली हवाई अड्डे पर सीबीआरएन आपात स्थितियों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया  
  • चुनाव आयोग
  • 11 दिसंबर 2018 को पांच राज्यों की विधानसभाओं के सामान्य चुनाव के रूझानों और परिणामों का प्रसार  
  • रक्षा मंत्रालय
  • वायु सेना प्रमुख का जापान दौरा  
  • लंबी दूरी तक मार करने वाली अग्नि मिसाइल-5 का सफल परीक्षण  
  • रेल मंत्रालय
  • रेल कर्मचारी को संथाली भाषा में उनके उपन्यास ‘मारोम’ के लिए प्रतिष्ठित साहित्य अकादमी पुरस्कार दिया गया  
  • वित्त मंत्रालय
  • राष्‍ट्रीय पेंशन प्रणाली (एनपीएस) सरल बनाई गई  
  • सोने की तस्‍करी पर डीआरआई का शिकंजा जारी, लगभग 21 करोड़ रुपये मूल्‍य का 66 किलो सोना जब्‍त  
  • फॉर्म जीएसटीआर-9, जीएसटीआर-9ए और जीएसटीआर-9सी दाखिल करने की अंतिम तिथि बढ़ाकर 31 मार्च, 2019 की गई    
  • वित्‍तीय वर्ष 2018-19 में, नवम्‍बर 2018 तक प्रत्‍यक्ष कर संगह दर्शाता है कि सकल संग्रह 6.75 लाख करोड़ रूपये रहा है। यह पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में 15.7 प्रतिशत अधिक है।     
  • शिपिंग मंत्रालय
  • अप्रैल-नवम्‍बर, 2018 में प्रमुख बंदरगाहों की वृद्धि दर 4.83 प्रतिशत रही     
  • स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय
  • पार्टनर्स फोरम 2018 में भारत दिवस का उद्घाटन  
  • संसदीय कार्य मंत्रालय
  • सरकार ने कल से प्रारंभ होने वाले संसद के शीतकालीन सत्र से पहले सभी दलो  के नेताओं के साथ बैठक की  

 
कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय 07-दिसंबर, 2017 19:30 IST

श्री राधा मोहन सिंह ने पटना में किसान गोष्ठी सह प्रक्षेत्र भ्रमण मे किसानों को सम्बोधित किया

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री, श्री राधा मोहन सिंह ने कहा है कि कृषि मंत्रालय इसके लिए लगातार प्रयासरत है कि किसानों की आमदनी बढ़े, कृषि में रोजगार के अवसर बढ़े और किसानों को अधिक से अधित लाभ मिले। पटना में ‘‘कृषक गोष्ठी सह प्रक्षेत्र भ्रमण’’ का आयोजन भी किसानों के फायदे के लिए किया गया है। श्री सिंह ने यह बात आज पटना के ICAR में आयोजित “किसान गोष्ठी सह प्रक्षेत्र भ्रमण” के मौके पर कही।

श्री सिंह ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था में कृषि का महत्वपूर्ण योगदान है। देश के सकल घरेलू उत्पाद में  कृषि क्षेत्र का योगदान लगभग 14 प्रतिशत है जबकि बिहार में कृषि क्षेत्र का योगदान लगभग 19 प्रतिशत है। अर्थव्यवस्था के विकास के साथ देश स्तर पर सकल घरेलू उत्पाद में कृषि क्षेत्र का योगदान घटता जा रहा है, परन्तु कृषि पर आश्रित जनसंख्या का उसी अनुपात में कमी नही हो रही है। यह समावेशी विकास के लिए एक महत्वपूर्ण चुनौती है। देश की तुलना में बिहार की कृषि पर जनसंख्या का दबाब अधिक है। देश में खेती की जाने वाली भूमि के रकवे में बिहार का हिस्सा 3.8 प्रतिशत है, जबकि देश की आबादी में बिहार का हिस्सा 8.6 प्रतिशत है। राज्य का जनसंख्या घनत्व 1106 व्यक्ति प्रति वर्ग कि0मि0 है, जबकि राष्ट्रीय औसत मात्र 382 व्यक्ति प्रति वर्ग कि0मि0 है। राज्य में 91 प्रतिषत किसान सीमांत श्रेणी के है, जबकि राष्ट्रीय औसत 68 प्रतिशत है। इस प्रकार राज्य की कृषि पर जनसंख्या का भारी दबाब है तथा खेती करने वाले परिवारों में सीमांत किसानों तथा कृषि मजदूरों की  संख्या अधिक है।  

राज्य में कृषि के विकास के लिए प्राकृतिक संसाधन यथा उपजाऊ मिट्टी, जल एवं कृषि जलवायवीय परिस्थितियाँ उपलब्ध है। पिछले चार-पाँच सालों में फसल एवं बागवानी में उल्लेखनीय उपलब्धि के साथ-साथ कृषि से संबद्ध क्षेत्रों में भी उल्लेखनीय प्रगति हुई है। गत वर्ष बिहार में अनुमानित 141 लाख टन धान्य फसलों का उत्पादन हुआ, जिसमें धान 68.8 लाख टन, गेहूँ 47.4 लाख टन, मक्का 25.2 लाख टन, दलहन 4.2 लाख टन एवं तेलहन 1.3 लाख टन उत्पादन हुआ। सब्जी का उत्पादन 156.29 एवं फल का उत्पादन 40 लाख टन तक आंकलन किया गया। उसी प्रकार राज्य में प्रतिवर्ष दूध का उत्पादन 87 लाख मी॰ टन, अण्डा का उत्पादन 111 करोड़, मांस का उत्पादन 3.26 लाख मी॰ टन तथा मछली का उत्पादन 5.06 लाख मी॰ टन हो गया है।

कृषि उत्पादन वृद्धि में कृषि विष्वविद्यालयों एवं कृषि प्रसार संस्थाओं का विषेष योगदान रहा है। वर्तमान में राज्य में दो कृषि विष्वविद्यालय एवं एक पशु विज्ञान विश्वविद्यालय, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के चार शोध संस्थान (पटना में 2, मुजफ्फरपुर एवं मोतिहारी में एक-एक), चार क्षेत्रीय कृषि शोध संस्थान (मोतीपुर, पूसा, दरभंगा एवं बेगुसराय में), छह कृषि महाविद्यालय, एक-एक मत्स्य, डेयरी, कृषि अभयंत्रण, बागवानी एवं पशु चिकित्सा महाविद्यालय हैं। कृषि तकनीक के प्रचार-प्रसार, प्रत्यक्षण एवं प्रषिक्षण हेतु सभी 38 जिलों में कृषि विज्ञान केन्द्र कार्यरत हैं। सभी कृषि विज्ञान केन्द्रों की गतिविधियों की जानकारी हेतु कृषि विज्ञान पोर्टल बनाये गये है।

कृषि में सूचना प्रौद्योगिकी के उपयोग का समावेश करके कृषि सुविधा एवं पूसा कृषि मोबाईल एप, फसल बीमा मोबाईल एप और कृषि मंडी एप विकसित किया गया है। कृषि सुविधा एप द्वारा जलवायु, पौध संरक्षण, कृषि परामर्शों, मंडी मूल्यों आदि के बारे में किसान जानकारी प्राप्त कर सकते है। पूसा कृषि मोबाईल एप आई ए आर आई द्वारा विकसित प्रौद्योगिकी के बारे में किसान को सूचना देते हैं। फसल बीमा मोबाईल एप हमे सामान्य, बीमित राशि, विस्तृत प्रीमियम ब्यौरा, अधिसूचित फसल की सूचना आदि के बारे में जानकारी देता है। कृषि मंडी एप 50 कि.मी. के क्षेत्र के अधीन मंडियों के फसल के मूल्य के बारे में जानकारी देता है। फसल बीमा पोर्टल दावा निपटान समय को कम करता है तथा परदर्शिता बढाता है। 2022 तक किसानों की आमदनी दुगुनी करने के लिए कृषि मंत्रालय सात सूत्री कार्यक्रम चला रहा है।

SS/AK

****

(Release ID 69603)


  विज्ञप्ति को कुर्तिदेव फोंट में परिवर्तित करने के लिए यहां क्लिक करें
डिज़ाइन एवं होस्‍ट राष्‍ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी),सूचना उपलब्‍ध एवं अद्यतन की गई पत्र सूचना कार्यालय
ए खण्‍ड शास्‍त्री भवन, डॉ- राजेंद्र प्रसाद रोड़, नई दिल्‍ली- 110 001 फ़ोन 23389338